स्कूल के स्ट्रॉन्ग रूम से लीक हुआ पेपर:वॉट्सऐप पर रात को ही वायरल हो गया था पेपर, कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द

जयपुर6 महीने पहले

राजस्थान पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा-2022 का पेपर लीक हो गया। लीक होने वाला पेपर 14 मई की दूसरी पारी का है। इसमें करीब पौने दो लाख अभ्यार्थियों ने एग्जाम दिया था। इनकी परीक्षा दोबारा ली जाएगी। वहीं, बताया जा रहा है कि पेपर लीक की पूरी साजिश जयपुर के दिवाकर पब्लिक स्कूल में रची गई थी।

पेपर रखने वाले स्ट्रांग रूम में एसओजी की टीम को कई गड़बड़ियां मिली हैं। विशेषकर यहां एग्जाम के लिए लगाए गए एक कर्मचारी की टीम को तलाश है। मामले की जांच करने एसओजी की टीम मंगलवार सुबह भी दिवाकर स्कूल पहुंची।

इससे पहले बताया गया था कि जयपुर के झोटवाड़ा स्थित दिवाकर पब्लिक स्कूल के केंद्र अधीक्षक के कारण पेपर लीक हुआ। एसओजी की ओर से परीक्षा केंद्र के स्ट्रांग रूम से पेपर लीक होने के मामले में FIR दर्ज कर ली गई है।

एसओजी की टीम भी दिवाकर पब्लिक स्कूल पहुंची।
एसओजी की टीम भी दिवाकर पब्लिक स्कूल पहुंची।

पुलिस मुख्यालय की सूचना पर SOG हुई एक्टिव
वॉट्सऐप पर रात से सुबह तक कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर वायरल हो रहा था। इसी को लेकर सोमवार सुबह कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा को आधे घंटे देरी से शुरू किया। पुलिस मुख्यालय ने सभी सेंटरों को पेपर देने से मना कर दिया। इसके बाद अधिकारियों ने खुद की मौजूदगी में आज आने वाले पेपर को खोला। पुलिस मुख्यालय की ओर से पेपर वायरल करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए ATS-SOG को जानकारी दी। पेपर वायरल होने का पता चलने पर SOG एक्टिव हो गई।

पेपर लीक की पूरी साजिश जयपुर के दिवाकर पब्लिक स्कूल में रची गई।
पेपर लीक की पूरी साजिश जयपुर के दिवाकर पब्लिक स्कूल में रची गई।

स्कूल में परीक्षा से पहले खोला पेपरADG (ATS और SOG) अशोक राठौड़ ने बताया कि जांच में सामने आया है कि 14 मई को पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का दूसरी पारी का पेपर आउट हुआ। जांच में परीक्षा केंद्र के स्ट्रांग रूम से पेपर लीक होने का पता चला है। SOG की ओर से दिवाकर पब्लिक स्कूल के केंद्र अधीक्षक सहित 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

13 मई को आयोजित दोनों पारियों में 5 लाख 46 हजार 900 आवेदकों में से 3 लाख 35 हजार 754 अभ्यर्थी उपस्थित रहे।
13 मई को आयोजित दोनों पारियों में 5 लाख 46 हजार 900 आवेदकों में से 3 लाख 35 हजार 754 अभ्यर्थी उपस्थित रहे।

सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग गायबएसओजी ने जब स्कूल में जांच की तो कई अहम सुराग मिले। यहां सीसीटीवी कैमरों में डीवीआर लगा हुआ था, लेकिन करीब आधे घंटे की रिकॉर्डिंग उसमें से गायब थी। स्ट्रांग रुम में बॉक्स की जगह भी बदली हुई थी। स्कूल का एक कर्मचारी गायब है। इसका नाम मोहन बताया जा रहा है। सीसीटीवी की फुटेज में मोहन के जूते नजर आ रहे हैं। वह दोपहर करीब 2.15 बजे स्ट्रांग रूम में गया था। उसका फोन भी स्विच ऑफ है।

पेपर की आंसर की हुई थी जारीSOG को सूचना मिली थी कि वॉट्सऐप पर राजस्थान पुलिस भर्ती का पेपर आउट हुआ है। पेपर के 33 पेज वॉट्सऐप पर वायरल किए गए थे। 26 पेज पर अंकित निशान मिले और 7 पेज पर गोले लगाए मिले। एक सीरीज के वायरल पेपर की ऑन्सर की भी तैयार की गई थी। पेपर के फोटोज खींचने के दौरान SOG को कुछ क्लू मिला।

फोटोज के आधार पर SOG ने उस सीरीज के भेज गए चार सेंटर्स पर पड़ताल की। सीकर, श्रीगंगानगर और जयपुर के मानसरोवर व झोटवाड़ा स्थित परीक्षा सेंटर्स पर SOG टीम पहुंची। जांच में दिवाकर पब्लिक स्कूल सेंटर पर ड्यूटी पर तैनात कुछ कर्मचारी गायब मिले। उनके मोबाइल भी बंद मिलने पर संदिग्ध मानते हुए मामला दर्ज किया गया।

ये भी पढ़ें-
कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा रद्द, 1.5 लाख स्टूडेंट्स पर असर:14 मई को दूसरी पारी में पेपर आउट, जयपुर में सेंटर पर पहले ही खोला पेपर