स्टेनोग्राफर भर्ती परीक्षा को लेकर शुरू हुआ विरोध:अभ्यार्थियों ने पेपर नॉर्मलाइजेशन की रखी मांग, 1211 पदों के लिए 9 पारियों में हुई थी परीक्षा

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नॉर्मलाइजेशन की मांग को लेकर विरोध करते अभ्यर्थी। - Dainik Bhaskar
नॉर्मलाइजेशन की मांग को लेकर विरोध करते अभ्यर्थी।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा 29 और 31 अक्टूबर को स्टेनोग्राफर भर्ती परीक्षा के दूसरे चरण का आयोजन किया गया था। कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से 1211 पदों पर आयोजित इस भर्ती में करीब 12 गुना अभ्यर्थियों को दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल किया गया था। जिसमें तीन दिनों तक 9 पारियों में परीक्षा आयोजित की गई थी। लेकिन अलग-अलग परियों में हुई परीक्षा के बाद अब छात्रों द्वारा नॉर्मलाइजेशन की मांग उठने लगी है।

दरअसल, 9 पारियों में आयोजित स्टेनोग्राफर भर्ती परीक्षा के 4 पेपर सरल बताय जा रहे है। अभ्यर्थियों को कहना है की परीक्षा में 5 पेपर्स के मुकाबले काफी 4 पेपर आसान थे। ऐसे में कठिन पेपर देने वाले अभ्यर्थियों ने अब परीक्षा में नॉर्मलाइजेशन करने के बाद परिणाम जारी करने की मांग शुरू कर दी है। जिसके बाद अभ्यर्थियों ने राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरीमोहन शर्मा को भी ज्ञापन दिया है।

दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों रामकेश मीणा का कहना है कि 29 अक्टूबर को आयोजित पहली पारी की परीक्षा बहुत ही आसान रही है। जबकि पहले दिन तीसरी पारी और दूसरे और तीसरे दिन भी तीन पारियों का पेपर काफी कठिन रहा है। ऐसे में संभावना है कि जो परीक्षार्थी 29 अक्टूबर की पहली और दूसरी पारी की परीक्षा में शामिल हुए हैं। उनका ही सलेक्शन होने की संभावना ज्यादा है। इसलिए बोर्ड द्वारा पहले नॉर्मलाइजेशन किया जाए और उसके बाद परिणाम जारी किया जाए। वहीं अभ्यर्थियों के विरोध के बाद अब बोर्ड भी पूरे मामले में एक्शन मोड़ में आगया है।

खबरें और भी हैं...