विरोध-प्रदर्शन:केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने किया सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ कर्मचारियों की मांगें नहीं मानने के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया गया। संयुक्त मोर्चे के संयोजक और एमएमएस के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश माथुर ने बताया कि रोडवेजकर्मियों और जेसीटीएल कर्मियों के लिए 7वां वेतन आयोग लागू किया जाना चाहिए। प्रत्येक माह की 1 तारीख को वेतन व भत्तों का भुगतान सुनिश्चित करना, नई बसें रोडवेज को उपलब्ध कराई जानी चाहिए।

इस संबंध में श्रमिक नेता जगदीश राज श्रीमाली, कुनाल रावत, वीएस राणा, डीके छंगानी ने मुख्यमंत्री के साथ बैठक की। बैठक में राजस्थान में केंद्र सरकार के चार श्रम कानून लागू नहीं करने और 2014 से राजस्थान में परिवर्तित श्रम कानूनों को रद्द करने, न्यूनतम मजदूरी, श्रमिकों के जीवन-यापन लायक आवश्यक वृद्धि 1 जनवरी से लागू करने, राजस्थान के एनसीआर क्षेत्र में ट्रेड यूनियन अधिकार बहाल करने, केंद्रीय श्रमिक संगठनों के कार्यालय उपयोग के लिए भवन आवंटित करने, श्रमिकों से संबंधित विभिन्न कमेटियों का गठन करने सहित अनेक मांगों पर चर्चा की गई। मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया कि सभी मांगों पर संबंधित विभाग के अधिकारियों से चर्चा करके सकारात्मक कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...