• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Certificate Will Be Issued Within 30 Days After Receipt Of Application; If You Are Not Satisfied With The Decision Of The Committee, You Will Be Able To Appeal To The Appellate Board.

डिस्टिक लेवल कमेटी देगी कोविड से हुई डेथ के सर्टिफिकेट:आवदेन मिलने के बाद 30 दिन के अंदर जारी होगा सर्टिफिकेट; कमेटी के निर्णय से संतुष्ट नहीं होने पर अपीलीय बोर्ड में कर सकेगे अपील

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुप्रीम कोर्ट के आदेशों और केन्द्र सरकार के निर्देशों के बाद राजस्थान सरकार ने कोरोना से जिन लाेगों की मौत हुई उनके डेथ सर्टिफिकेट जारी करने के लिए डिस्टिक लेवल पर एक कमेटी बनाई है। ये कमेटी मिलने वाले आवेदनों का 30 दिन के अंदर डिस्पोजल करेगी यानी इस डेडलाइन के अंदर इस कमेटी को डेथ सर्टिफिकेट जारी करना होगा। अगर किसी कारण से कमेटी डेथ सटिफिकेट में कोरोना का जिक्र नहीं करती और आवेदक कमेटी के निर्णय से संतुष्ट नहीं हाेता तो वह हायर ऑथोरिटी में अपील कर सकेगा। इसके लिए स्टेट लेवल पर एक अपीलीय बोर्ड या कहें स्टेट लेवल कमेटी बनाई है।

RTPCR की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव होना जरूरी
चिकित्सा विभाग के सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि जिस व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई उसके परिजन एक निर्धारित फॉर्म में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) या ब्लॉक सीएमएचओ ऑफिस में आवेदन कर सकते है। इस फार्म के साथ मृतक की आरटीपीसीआर की पॉजिटिव रिपोर्ट भी लगानी होगी। अगर संक्रमित व्यक्ति ने आत्म​हत्या की हो या फिर दुर्घटना में उसकी मौत हो गई हो तो उसे कोरोना मृत्यु नहीं माना जाएगा। अगर किसी व्यक्ति की मौत अस्पताल के बजाए घर में हुई है और डॉक्टर्स से जारी सर्टिफिकेट है तो उसे भी कोरोना से मौत होना माना जाएगा।

प्रशासन गांवों के संग अभियान में भी कर सकेंगे आवेदन
सीएमएचओ या ब्लॉक सीएमएचओ ऑफिस के अलावा इसके लिए आवेदन पत्र 2 अक्टूबर से शुरू होने वाले प्रशासन गांवों के संग अभियान में भी लिए जाएंगे। इसके लिए बकायदा कैंप में एक चिकित्सा अधिकारी को भी बैठेगा। यहां आवेदन मिलने के बाद इन्हें सीएमएचओ ऑफिस में भिजवाया जाएगा, जहां डिस्टिक लेवल कमेटी इसका निस्तारण करेगी।

ये होंगे कमेटी में शामिल
जिला स्तरीय कमेटी का अध्यक्ष जिला कलक्टर होगा। जबकि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) इस कमेटी का सचिव होगा। साधारण सदस्य के तौर पर जिला हॉस्पिटल में मौजूद सीनियर फिजिशियन या मेडिसन आॅफ मेडिकल कॉलेज का विभागाध्यक्ष होगा। इसी तरह इस कमेटी के निर्णय से अगर आवेदक संतुष्ट नहीं होता तो उसके खिलाफ अपील के लिए स्टेट लेवल कमेटी बनाई है। इस स्टेट लेवल कमेटी या अपीलीय बोर्ड का अध्यक्ष एसएमएस मेडिकल कॉलेज के सीनियर प्रोफेसर डॉ. रमन शर्मा को बनाया है। जबकि सदस्य के तौर पर राजस्थान एड्स कंट्रोल सोसायटी के निदेशक डॉ. रवि प्रकाश शर्मा, संयोजक आईडीएसपी के राज्य नोडल अधिकारी डॉ. प्रवीण असवाल व सदस्य आरयूएचएस के अधीक्षक डॉ अजीत सिंह हैं।

खबरें और भी हैं...