पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मरीजों काे समस्या:जयपुरिया में केमिकल खत्म, 8 दिन से जांचें बंद, थायराइड के सैंपल 3 महीने नहीं लिए जा रहे

जयपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्टाेर प्रभारी ने कैमिकल की खरीद नहीं की। इसका खामियाजा मरीजों काे भुगतना पड़ रहा है।  - Dainik Bhaskar
स्टाेर प्रभारी ने कैमिकल की खरीद नहीं की। इसका खामियाजा मरीजों काे भुगतना पड़ रहा है। 

जयुपरिया अस्पताल में 8-10 दिन से जांचें नहीं होने से हर दिन करीब 300-400 मरीजों को निराश होकर लौटना पड़ रहा है। यहां पहले ही सिटी स्कैन और एमआरआई ठेके पर हो रहे हैं अब जांचें भी नहीं हाे पा रही हैं। अस्पताल में मरीजों की आठ दिन से शुगर की जांच नहीं हाे रही है। इससे पहले अस्पताल में हर दिन करीब 150 से अधिक मरीजों की शुगर की जांच हाेती थी।

जांच नहीं हाेने से जांच में काम आने वाला रीएजेंट नहीं हाेना है। यह स्थिति ताे तब है, जबकि लैब की ओर स्टाेर काे कैमिकल खरीद के लिए 10 दिन पहले बता दिया गया था। इसके बाद भी स्टाेर प्रभारी ने कैमिकल की खरीद नहीं की। इसका खामियाजा मरीजों काे भुगतना पड़ रहा है।

थायराइड के सैंपल 3 महीने नहीं लिए जा रहे
अस्पताल में पहले थायरायड जांच के लिए सैंपल लिए जाते थे। सैंपलों काे जांच के लिए आरयूएचएस भेजा जाता था, लेकिन 3 महीने से अस्पताल में आने वाले मरीजों के थायराइड जांच के सैंपल भी नहीं लिए जा रहे हैं। मरीजों की जांच के लिए प्राइवेट लैबाें पर निर्भर रहना पड़ता है। मरीजों से सरकारी जांच शुल्क की अपेक्षा कई गुना अधिक वसूली जा रही है।

खबरें और भी हैं...