पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बरसाती नालों की सफाई के दावाें की खुली पोल:नागरिक सुरक्षा की टीमों ने 42 क्षेत्रों के सर्वे में पाया 70 प्रतिशत नालों में अब भी भरा है कचरा

जयपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला प्रशासन ने दाेनाें नगर निगम से एक माह पहले शहर में बरसाती नालाें की सफाई की रिपोर्ट मांगी थी लेकिन अब तक नहीं दी गई। इसके बाद निगम काे दाे बार रिमांइडर भेजे जा चुके। निगम की ओर से काेई जवाब नहीं आने पर जिला प्रशासन ने नागरिक सुरक्षा के वालेंटियर्स काे लगाकर शहर के बरसाती नालाें का सर्वे करवाया। जिसमें 70% नालाें में कचरा भरा मिला।

हर वर्ष मानसून आने से पहले नगर निगम शहर के नालों की सफाई करवाता है। सफाई का काम 15 जून तक पूरा हाेना चाहिए। शहर में बरसाती पानी के 450 छाेटे-बडे नाले हैं। नालों से निकले कचरे का निस्तारण हाथों-हाथ नहीं होने से सफाई कार्यों पर ही सवाल खड़ा हो रहा है। नागरिक सुरक्षा के वॉलेन्टियर्स लगाकर शहर के चालीस क्षेत्रों में नालों की सफाई की फाेटाे व विडियोग्राफी कर जायजा लिया गया।

इन इलाकों में करीब 300 नालों में अब भी कचरा भरा है। जिन नालों की सफाई हुई है उनका कचरा सड़कों पर पड़ा है। नगर निगम हर साल शहरी क्षेत्र के नालों की सफाई पेटे करोड़ों रुपए खर्च करता है, इसके बावजूद शहर में भारी बारिश होते ही कई इलाकों में जल प्लावन के हालात बन जाते है।

सबसे खराब हालात ब्रह्मपुरी, जलमहल व जयसिंहपुरा खाेर के

नागरिक सुरक्षा की टीम काे ब्रह्मपुरी से जाने वाले बरसाती पानी के दाेनाें मुख्य नाले, जल महल के आसपास और जयसिंहपुरा खाेर में सबसे बदतर हालात मिले। आसपास के तीन वर्ग किलोमीटर के नालों की सफाई नहीं हाे पाई। ब्रह्मपुरी के नालों से जौहरी बाजार , हवामहल, पुरानी बस्ती, रामगंज सहित आधे शहर का बरसाती पानी निकलता है।

नालों की पूरी तरह से सफाई नहीं हाेने से एक साथ 4 इंच बरसात हाे जाए ताे बाढ के हालात बन जाएंगे। जयसिंहपुरा खाेर मुख्य नाले से कचरा निकाल कर राेड किनारे ढेर लगा दिया। नालों की सफाई नहीं हाेने से जल महल राेड पर पहाडों का पानी और शहर का पानी एक साथ आने से जलभराव हाेता है।

शास्त्री नगर भट्टा बस्ती के नाले भी भरे है गंदगी से

स्थानीय निवासी अब्दुल वहीद , फकरुद्दीन ने बताया कि शास्त्री नगर व भट्टा बस्ती से आने वाले नालों की भी सफाई नहीं हाे पाई। नाहरी का नाका से आने वाले नाले में अब भी गंदगी भरी है। शास्त्री नगर कब्रिस्तान से गुजरने वाले नाले की ताे कई सालों से सफाई नहीं हाे पाई।

इन नालों में भी भरी है गंदगी

खासाकाेठी से गुजरने वाले बड़े ड्रेनेज काे अब तक साथ नहीं किया गया। अजमेर राेड गोपाल बाडी के सामने नालों सफाई नहीं हाेने से जल बरसात में पानी भरेगा। इसी तरह मुरलीपुरा सीकर राेड के नालों में भी कचरा अटा हुआ है। सांगानेर के मुख्य बाजार के नाले काे अब तक साफ नहीं किया। जगतपुरा में नाले की सफाई नहीं हाेने से मालवीय नगर के पानी निकासी में भी बाधा आएगी।

जिला प्रशासन के आदेश पर शहर के बरसाती नालों के ताजा हालात का सर्वे करवाया गया है। रिपोर्ट प्रशासन काे साैंप दी है।

-जगदीश प्रसाद रावत, उप नियंत्रक, नागरिक सुरक्षा जयपुर

खबरें और भी हैं...