• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • CM Ashok Gehlot Said Curfew Should Be Applied Even Further To Prevent Infection, The Guideline Should Be Made More Stringent.

राजस्थान में पाबंदियां और सख्त होंगी:CM गहलोत बोले- संक्रमण रोकने के लिए कर्फ्यू आगे भी लागू रखें, गाइडलाइन और सख्त बनाएं; 1-2 दिन में ऐलान होगा

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में 3 मई के बाद भी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू रखने पर अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी मुहर लगा दी है। 3 मई के बाद भी कर्फ्यू जारी रहेगा और इस बार पाबंदियों को और बढ़ाया जाएगा। नियमित कोविड समीक्षा बैठक में गहलोत ने गृह विभाग के अफसरों को मौजूदा गाइडलाइन को और सख्त बनाने और इसे आगे भी लागू रखने के आदेश दिए।

मुख्यमंत्री ने गृह विभाग के अफसरों से कहा कि जरूरतमंद तबके की आजीविका का ध्यान रखते हुए ऐसी गाइडलाइन तैयार करें, जिससे लोगों का गैर-जरूरी आना-जाना न हो और संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लग सके, नहीं तो स्थिति और विकट हो सकती है।

4 मई से नई गाइडलाइन लागू होंगी
गहलोत ने कहा कि चिकित्सा मंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव गृह और डीजीपी तमाम स्थितियों को ध्यान में रखकर गाइडलाइन तैयार करें। हमारी कोशिश यह होनी चाहिए कि संक्रमण की चाल हर हाल में धीमी हो, चाहे इसके लिए और सख्त कदम उठाने पड़ें। बता दें राजस्थान में कर्फ्यू की मौजूदा गाइडलाइन 3 मई तक के लिए है और 4 मई से नई गाइडलाइन लागू होंगी।

नई गाइडलाइन बनाने की तैयारी शुरू
नई गाइडलाइन बनाने के लिए मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में 3 मई के बाद लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगाने के लिए गाइडलाइन पर चर्चा होगी। इसके बाद गृह विभाग ड्राफ्ट तैयार करेगा। आज-कल में ही नई गाइडलाइन को मुख्यमंत्री की मंजूरी के बाद जारी कर दिया जाएगा।

3 मई के बाद कर्फ्यू कम लॉकडाउन का समय बढ़ाया जाएगा। इस बार पांबदियां ज्यादा सख्त होंगी। वीकेंड कर्फ्यू पर दूध, सब्जी और पेट्रोल पंप को छोड़ सब कुछ बंद रहेगा। एक जिले से दूसरे जिले में निजी वाहनों के जरिए आवाजाही पर रोक को और सख्ती से लागू किया जाएगा।

भास्कर ने कल ही बता दिया था कि पांबदियां सख्त होंगी
दैनिक भास्कर ने कल (गुरुवार) ही बता दिया था कि 3 मई के बाद कर्फ्यू कम लॉकडाउन की पांबदियों को बढ़ाने की तैयारियां चल रही हैं। एक्स्पर्ट्स की राय थी कि मौजूदा पाबंदियों को जारी रखने के अलावा कोई चारा नहीं है।

खबरें और भी हैं...