पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राजस्थान में सियासी संग्राम का 23वां दिन:जयपुर लौटे सीएम, 2 और विधायक जैसलमेर रवाना, अब तक 90 पहुंचे, केन्द्र मोदी और भाजपा पर भड़के गहलोत

जयपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विधायकों ने किले में मनाई ईद, दो की तबीयत बिगड़ी।
  • मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा- राजस्थान में जो तमाशा हो रहा है, उसे बंद कराएं पीएम मोदी
  • पायलट व बागी विधायकों पर बोले गहलोत- बागी विधायकों को हाईकमान माफ कर दे तो मैं गले लगा लूंगा
Advertisement
Advertisement

प्रदेश में छिड़े सियासी संग्राम के बीच कांग्रेस विधायकों को जैसलमेर में शिफ्ट करने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शनिवार दाेपहर वहां से जयपुर रवाना हाे गए। जैसलमेर से निकलते वक्त वे मीडिया से रूबरू हुए। इस दाैरान उनके दो तरह के तेवर दिखे। एक-पीएम मोदी, भाजपा, गृह मंत्रालय पर उग्र और दूसरा- पायलट समेत बागी विधायकों पर सौम्य।

उन्हाेंने पीएम पर हमला करते हुए कहा- धमेंद्र प्रधान और पीयूष गोयल समेत कई मंत्री और पूरा गृह मंत्रालय राजस्थान की सरकार गिराने में लगा है। कई छिपे रुस्तम भी लगे हुए हैं। लेकिन हमें मालूम है कि वे कौन हैं। मोदीजी देश के पीएम हैं। लोगों ने उन पर भरोसा किया। उन्हें चाहिए कि राजस्थान में जो तमाशा हो रहा है उसे बंद करवाएं। विधानसभा सत्र की घाेषणा हाेते ही हॉर्स ट्रेडिंग के रेट बढ़ा दिए गए। देश में ये क्या तमाशा हो रहा है। कांग्रेस में सरकार गिराने की काेशिश करने की परंपरा कभी नहीं रही।

गहलाेत ने कहा- भाजपा के मुंह खून लग चुका है। कर्नाटक व मध्यप्रदेश में वे ऐसा कर चुके हैं और अब राजस्थान में भी यही कर रहे हैं। पायलट गुट की ओर से किसी के वापस आने पर माफ करने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि यह हाईकमान पर निर्भर करता है, यदि हाईकमान माफ करता है तो मैं भी सबको गले लगा लूंगा। मेरा कोई अहम का टकराव नहीं है। बसपा द्वारा उसके छह विधायकाें के कांग्रेस में शामिल हाेने काे लेकर कोर्ट में जाने के बारे में गहलाेत ने कहा कि मायावती बहनजी सीबीआई व ईडी के दबाव में हैं।

सूर्यागढ़ लाइव; किले में मनाई ईद, दो विधायकों की तबीयत बिगड़ी
जैसलमेर के सूर्यागढ़ किले पहुंचे कांग्रेस विधायकों ने शनिवार को बकरीद मनाई। नमाज भी अता की। इस बीच, जयपुर से जैसलमेर शिफ्ट होते ही गहलोत खेमे के दो विधायकों की तबीयत खराब हो गई। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को सूर्यागढ़ फोर्ट में डॉक्टरों को बुलाया गया। बताया जा रहा है कि मौसम में हुए बदलाव की वजह से विधायकों को घबराहट महसूस हुई। अब सब ठीक है। इससे पहले दो और विधायक अमित चाचाड़ और जगदीश जांगीड़ भी जयपुर से जैसलमेर के लिए रवाना हो गए।

सीएम का इन पर भी वार
केंद्रीय मंत्री ने गरीबों का पैसा लूटा, उन्हें तो अब इस्तीफा दे देना चाहिए

सीएम गहलोत ने गजेन्द्र सिंह का नाम लिए बिना कहा कि केंद्रीय मंत्री को तो अब इस्तीफा दे देना चाहिए। वे ऑडियो टेप में पकड़े गए। सरकार गिराने के षड्यंत्र में शामिल हैं। गरीबों का पैसा लूट लिया। संजीवनी सोसायटी में भी उनका नाम आ रहा है। कोर्ट ने भी जांच के आदेश दे दिए हैं।

सतीश पूनियां-राजेंद्र राठौड़ में टक्कर, वसुंधरा न जाने कहां गायब हो गई हैं
गहलोत बोले-वसुंधरा जी पता नहीं कहां गायब हैं। सतीश पूनियां के लिए कहा कि ये नए-नए नेता बने हैंं। वसुंधरा से टकराने के लिए पूनियां व राजेंद्र राठौड़ में टक्कर है। गुलाबचंद कटारिया जी भले आदमी हैं, पर मीडिया के सामने आते हैं तो हमें गाली-गलौज करते हैं, पर इनमें दम नहीं है।

गजेंद्र का पलटवार

राजस्थान में भाग-दौड़ की सरकार, आपका तमाशा, आपने शुरू किया

^राजस्थान में कांग्रेस की भाग-दौड़ सरकार। आपके विधायक, आपके मतभेद, आपकी विभाजन पार्टी, आपकी दुविधापूर्ण सरकार, आपका तमाशा! जो आपने खुद शुरू किया है उसे कोई और कैसे रोक सकता है?
- गजेंद्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री

भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी में दीया कुमारी और दिलावर समेत 4 महामंत्री, अजयपाल उपाध्यक्ष

प्रदेश में सियासी उठापटक के बीच भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने शनिवार काे प्रदेश कार्यकारिणी में 25 लाेगाें की टीम की घाेषणा की। इसमें 8 प्रदेश उपाध्यक्ष, 4 प्रदेश महामंत्री, 9 प्रदेश मंत्री, 1-1 मुख्य वक्ता, काेषाध्यक्ष, सह काेषाध्यक्ष व प्रदेश कार्यालय मंत्री है।

सूची में दाे सांसदों (सीपी जाेशी व दीया कुमारी), 3 विधायकों (मदन दिलावर, रामलाल शर्मा, चंद्रकांता मेघवाल) व 4 पूर्व विधायकाें (अल्का गुर्जर, हेमराज मीना, जितेंद्र गाेठवाल, सुशील कटारा) काे जगह मिली। प्रदेश महामंत्री पद पर दीया कुमारी व दिलावर, उपाध्यक्ष पद पर सरदार अजयपाल व प्रदेश उपाध्यक्ष पर पूर्व विधायक हेमराज मीना का नाम चर्चा में रहा। 7 माेर्चे, प्रकाेष्ठ व विभागाें की घाेषणा जल्द हाेगी।

मीना के नाम पर चर्चा इसलिए हुई क्याेंकि वह पूर्व विधायक ललित मीना के पिता है।

2 फैक्टर...जिन्होंने चौंकाया

1. दीया कुमारी की एंट्री
प्रदेश महामंत्री पद पर दीया कुमारी का नाम आना सबसे ज्यादा चौंकाने वाला रहा। चर्चा रही कि वसुंधरा की तरह दीया कुमारी काे भी प्रदेश संगठन बड़ा चेहरा बनाकर पेश कर रहा है।

2. वसुंधरा खेमे को कम तरजीह : सूची में वसुंधरा खेमे से जुड़े व्यक्तियाें काे कम तरजीह दी गई। पूनियां, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर और राजेंद्र राठाैड़ से जुड़े लाेगाें काे माैका मिला है।

जातीय गणित पर भी ध्यान

कार्यकारिणी में सोशल इंजीनियरिंग का पूरा ध्यान रखा गया है। एक सिख, दो राजपूत, तीन वैश्य, चार जाट, पांच दलित, पांच ब्राह्मण, एक गुर्जर, दो जनजाति, एक यादव, एक माली, एक कुमावत शामिल हैं।

इधर, राज्यपाल का सीएम गहलोत पर तंज... सरकार होटलों से काम कर रही है, यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण
गहलाेत द्वारा विधायकों को टूटने से बचाने के लिए होटल में रखे जाने पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने तंज कसा है। उन्होंने शनिवार को कहा- सरकार होटलों से काम कर रही है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। मिश्र ने एक इंटरव्यू के दौरान यह बात कही। क्या सरकार ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए सभी आपत्तियों का जवाब दे दिया है, इस पर राज्यपाल ने कहा कि हां, उन्होंने सभी जवाब दिए हैं।

मिश्र ने कहा कि अजीब स्थिति है कि विपक्ष से लेकर सरकार तक किसी ने भी कागज पर बहुमत परीक्षण कराने के लिए संपर्क नहीं किया है। जबकि अखबारों और मीडिया में 14 अगस्त को विशेष सत्र में बहुमत परीक्षण की बात हो रही है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement