पीएम से चर्चा:सीएम बोले- प्रीकॉशन डोज सभी को मिले, कंपनियों की वैक्सीन को मान्यता मिले

जयपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम अशोक गहलोत। - Dainik Bhaskar
सीएम अशोक गहलोत।

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि पीएम ने कोविड की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। इसमें 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को ही अपनी बात रखने का अवसर मिल सका। सीएम ने कहा कि चर्चा में अवसर नहीं मिलने के कारण सोशल मीडिया के माध्यम से जनहित में कोविड प्रबंधन को लेकर अपने सुझाव साझा कर रहा हूं। केन्द्र सरकार ने फिलहाल कोविड वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज 60 साल से अधिक आयु के को-मोर्बिड व्यक्तियों को लगाने के निर्देश दिए हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों के मुताबिक को-मोर्बिड की स्थिति हर आयु वर्ग में देखने को मिलती है, इसलिए प्रीकॉशन डोज सभी के लिए उपलब्ध हो।

प्रीकॉशन डोज के लिए 9 माह का अन्तराल रखा गया है, जो काफी अधिक है। इसे 3 से 6 माह किया जाना उचित होगा। भारत में फिलहाल 15 से 18 साल तक के किशोर वर्ग का वैक्सीनेशन हो रहा है। चूंकि हमारे देश के बच्चों में पोषण से संबंधित समस्याएं पहले से ही हैं। ऐसे में इतने बड़े मुल्क में छोटे बच्चों का वैक्सीनेशन जल्द शुरू होना जरूरी है। दुनिया के कई देशों में फाइजर, मॉडर्ना आदि कंपनियों की वैक्सीन को मान्यता दी गई है। देश में भी निजी क्षेत्र में इन्हें मान्यता दिया जाना उचित होगा। आर्थिक रूप से सक्षम लोग इसका उपयोग कर सकेंगे, इससे सरकार पर भी आर्थिक भार कम होगा। राजस्थान में सीरो सर्विलांस करवाया गया, जिसमें 90 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी पाई गई है।

खबरें और भी हैं...