• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Colleges To Be Built In Banswara, Sirohi, Hanumangarh And Dausa; Will Also Inaugurate CIPET, Gehlot Will Also Be Present

राजस्थान में PM ने 4 मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखी:प्रधानमंत्री मोदी बोले- अशोक जी का मुझ पर भरोसा है, यह दोस्ती लोकतंत्र की बहुत बड़ी ताकत है

जयपुर4 महीने पहले
पीएम मोदी ने आज राजस्थान के चार नए मेडिकल कॉलेजों का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शिलान्यास किया।

राजस्थान में चार मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की जमकर तारीफ की। पीएम मोदी ने कहा, मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री जी को सुन रहा था, एक लंबी सूची कामों की बता दी। मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री जी का धन्यवाद करता हूं कि उनका मुझ पर इतना भरोसा है। लोकतंत्र में यही बड़ी ताकत है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अशोक जी की राजनीतिक विचारधारा और पार्टी अलग है। मेरी राजनीतिक विचारधारा पार्टी अलग है, लेकिन उनका जो मुझ पर भरोसा है, उसी के कारण उन्होंने दिल खोलकर बहुत सी बातें रखी हैं। यह दोस्ती, यह विश्वास, यह भरोसा लोकतंत्र की बहुत बड़ी ताकत है।

मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर में तेजी लाएं
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, देश की मेडिकल व्यवस्थाओं का क्या हाल था। 2001 में जब गुजरात का सीएम बना उस वक्त मेडिकल सुविधाओं की हालत बहुत चुनौतीपूर्ण थी। हमने चुनौती को स्वीकारा और मिलकर हालात बदलने की कोशिश की। दो दशक के अथक प्रयास से गुजरात ने मेडिकल सीटों में छह गुना बढ़ोतरी की। मुख्यमंत्री के रूप में मुझे मेडिकल की जो कमियां मुझे दिखी थीं, उन्हें पिछले छह साल में मैंने ठीक करने का प्रयास किया। मेडिकल राज्य का विषय है, लेकिन मैं सीएम रहा हूं तो राज्यों की दिक्कतें जानता हूं। इसलिए केंद्र के स्तर पर जो कुछ हो सकता है। हमने इसके लिए मेडिकल पर राष्ट्रीय अप्रोच के तहत काम करते हुए नई स्वास्थ्य नीति बनाई। राजस्थान के साढ़े तीन लाख लोगों का मुफ्त इलाज हो चुका है। 2500 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर काम करना शुरू कर चुके हैं। सरकार का जोर प्रिवेंटिव हेल्थ पर है।

मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर की धीमी गति एक समस्या रही है। एम्स, हेल्थ सेंटर और अस्पतालों का नेटवर्क तेजी से फैलाना जरूरी है। 100 से ज्यादा नए मेडिकल कॉलेजों पर तेजी से काम चल रहा है। आज 1.40 लाख मेडिकल सीटें हो गई हैं। राजस्थान में दोगुनी से ज्यादा सीटें बढ़ी है। पीजी सीटें 1000 से बढ़कर 2100 तक पहुंच रही हैं।

दशकों पुराने मेडिकल शिक्षा के सिस्टम में सुधार जरूरी
पीएम ने कहा कि पहले मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया पर कैसे-कैसे आरोप लगते थे। इसका बहुत बड़ा प्रभाव मेडिकल शिक्षा की क्वालिटी पर पड़ा। हर सरकार इसमें बदलाव के बारे में सोचती थी, लेकिन नहीं कर पाई। मुझे भी इसमें सुधार करने में बहुत दिक्कतें आई। इसे ठीक करने में अब नेशनल मेडिकल एजुकेशन कमिशन बना दिया है। दशकों पुराने मेडिकल शिक्षा के सिस्टम में सुधार जरूरी थे। तीन चार दिन पहले शुरू हुआ आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन से बहुत फायदा होगा। मरीजों को अपना हेल्थ रिकॉर्ड संभालकर रखने में आसानी होगी।

देश में कोरोना की 88 करोड़ डोज लग चुकी
पीएम ने कहा कि सबको मुफ्त वैक्सीन की 88 ​करोड़ से अधिक डोज लग चुकी है। राजस्थान में 5 करोड़ से ज्यादा डोज लग चुकी है। हमें मेडिकल क्षमता बढ़ाना जरूरी है। ग्रामीण इलाकों के बच्चों को अंग्रेजी में मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई बड़ी बाधा थी। अब हिंदी में भी मेडिकल की पढ़ाई हो सकेगी। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में हमने हिंदी और भारतीय भाषाओं में मेडिकल की ​पढ़ाई करने का प्रावधान किया है। गांव के साधारण आदमी का बेटा बेटी भी जो अंग्रेजी स्कूल में नहीं पढ़ा वह डॉक्टर बन सके, इसके लिए प्रावधान किया है। इसीलिए मेडिकल में ओबीसी और आर्थिक पिछड़ों को आरक्षण दिया है।

बांसवाड़ा, सिरोही, हनुमानगढ़ और दौसा में बनेंगे कॉलेज
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजस्थान के बांसवाड़ा, सिरोही, हनुमानगढ़ और दौसा जिलों में चार नए मेडिकल कॉलेजों का शिलान्यास किया। मोदी ने सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इन कॉलेजों का शिलान्यास किया। साथ ही सीपेट पेट्रो रसायन प्रौद्योगिकी संस्थान, जयपुर (सीआईपीईटी) का उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मौजूद रहे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि ये मेडिकल कॉलेज केन्द्र प्रायोजित योजना के तहत स्वीकृत किए गए हैं। भारत सरकार ने मेडिकल कॉलेजों की स्थापना में पिछड़े और वंचित जिलों को प्राथमिकता दी है। इस योजना के तीन चरणों के तहत देशभर में 157 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी दी गई है। वहीं, भारत सरकार ने राजस्थान सरकार के साथ मिलकर सिपेट पेट्रो रसायन प्रौद्योगिकी संस्थान की जयपुर के सीतापुरा में स्थापना की है। यह स्वायत्तशासी संस्थान है। पेट्रो रसायन और संबद्ध उद्योगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए काम करेगी। यह संस्थान युवाओं को कुशल तकनीकी पेशेवर बनने के लिए शिक्षा प्रदान करेगी।

खबरें और भी हैं...