• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Coming To Jaipur From Tonk In A Bus From His Village, Stealing The Bike From The Master Key And Taking It Home, Changing His Appearance And Selling It As A Finance

जयपुर के 11 इलाकों में वाहन चोरों की नजर:टोंक से अपने गांव से बस में बैठ कर जयपुर आते, मास्टरचाबी से बाइक चुराकर घर ले जाते है, हुलिया बदलकर फाइनेंस की बताकर बेच देते

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चोरी की बाइकों के साथ पकड़े पांच वाहन चोर - Dainik Bhaskar
चोरी की बाइकों के साथ पकड़े पांच वाहन चोर

जयपुर में मालपुरा गेट पुलिस ने वाहन चाेरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई है। पुलिस ने पांच वाहन चोरों को गिरफ्तार कर 19 चोरी की बाइक जब्त की है। ये अपने गांव से बस में बैठकर जयपुर आते है और मास्टर चाबी से बाइक चोरी कर ले जाते है। बाद में सस्ते दामों में गांवों में ही बाइक बेच देते है। पुलिस ने इनके पास से बाइक चुराने वाली मास्टर चाबी भी बरामद की है। जांच में पांचों बदमाशों ने जयपुर शहर में बीस से अधिक चोरी की वारदातों का खुलासा किया है।

डीसीपी प्रहलाद कृष्णियां ने बताया कि मालपुरागेट थानाधिकारी रायसल सिंह ने वाहन चोरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए भरत सैनी पुत्र रमेश सैनी, पवन चंदेल पुत्र आनंदीलाल, दीपक चंदेल पुत्र आनंदीलाल निवासी पिपलू टोंक, सीताराम उर्फ मोनू पुत्र लक्ष्मण बैरवा निवासी टोडाराय सिंह टोंक, तोफान सिंह उर्फ बाबू सिंह पुत्र भंवरसिंह निवासी बीडरामचंद्रपुरा जयपुर को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि जयपुर में कई दिनों से लगातार वाहन चोरी हो रहे थे। इसके बाद पुलिस की एक टीम बनाई गई। पुलिस ने इनसे चोरी की वारदातों काे लेकर पूछताछ कर रही है।

खुद की दुकान में हुलिया बनाकर बेच देते

जांच में पता लगा है कि ये अपने गांव से बस में बैठकर जयपुर शहर में आते है। ये अपने पास मास्टर चाबी भी रखते है। जयपुर शहर में सुनसान जगहों पर खड़ी बाइकों के लॉक को मास्टर चाबी से खोल लेते है। इसके बाद बाइक चोरी कर वापस गांव लौट जाते है। इनकी खुद की बाइक सर्विस सेंटर पर ले आते है। वहां पर बाइकों का हुलिया बदल देते है। इसके बाद गांव में लोगों को फाइनेंस की बाइक बता कर बेच देते है।

11 इलाकों से बाइक चोरी की वारदात

पांचों आरोपियों से पूछताछ में पता लगा कि इन्होंने जयपुर के 11 इलाकों से चोरी की वारदात की है। इन्होंने जयपुर के सांगानेर, मालपुरा गेट, मानसरोवर, शिप्रापथ, मुहाना, प्रतापनगर, मोती डूंगरी, फागी के साथ ही टोंक जिले में देवली, टोडारायसिंह व निवाई में चोरी की वारदात करना कबूल किया है। इन्हीं इलाकों में ये चोरी करने के लिए सक्रिय रहते है।

खबरें और भी हैं...