• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Conflict Between Shaktawat Family In Congress Over Ticket For Vallabhnagar Seat, While BJP Divided Into Factions Is Fighting Over Bhinder

चुनावी तैयारी:वल्लभनगर सीट पर टिकट को लेकर कांग्रेस में शक्तावत परिवार के बीच टकराव, जबकि गुटों में बंटी भाजपा भींडर पर भिड़ रही

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस भाजपा में चल रही गुटबाजी के बीच धरियावद और वल्लभनगर उपचुनाव में दोनों पार्टियों के बीच होगा रोचक मुकाबला। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस भाजपा में चल रही गुटबाजी के बीच धरियावद और वल्लभनगर उपचुनाव में दोनों पार्टियों के बीच होगा रोचक मुकाबला।

धरियावद व वल्लभनगर में उपचुनावों के ऐलान के साथ ही कांग्रेस ने अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं। दोनों ही सीटें विधायकों के कोरोना से निधन के चलते खाली हुई थीं। इनमें वल्लभनगर में कांग्रेस के गजेंद्र शक्तावत और धरियावद की सीट पर भाजपा के गौतमलाल मीणा विधायक थे, लेकिन वल्लभनगर सीट पर टिकट को लेकर शक्तावत परिवार के बीच टकराव है। शक्तावत की पत्नी प्रीति शक्तावत, बड़े भाई देवेंद्र शक्तावत और उनके भांजे राज सिंह झाला भी अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं।

इसी साल नवंबर में गहलोत सरकार अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे करेगी। ऐसे में कांग्रेस उपचुनाव में बेहतर प्रदर्शन करती है तो वह इसे बड़े मैसेज के रूप में पेश करेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गाेविंद सिंह डोटासरा ने मंगलवार को अपने आवास पर चुनावी तैयारियों को परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावा, बीज निगम के पूर्व चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ के साथ बैठक की।

इन दोनों ही विधानसभा सीटों के लिए कांग्रेस प्रभारी मंत्रियों की अध्यक्षता में 7-7 सदस्यीय कमेटी गठित कर चुकी है। इसमें वल्लभनगर में प्रभारी मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के अलावा सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, खान मंत्री प्रमोद जैन भाया, विधायक गणेश घोघरा, दयाराम परमार, पीसीसी महासचिव लाखन मीणा व पूर्व विधायक पुष्कर डांगी शामिल हैं।

धरियावद में प्रभारी मंत्री अर्जुन बामणियां, खेम मंत्री अशोक चांदना, पूर्व सांसद व सीडब्लूसी सदस्य रघुवीर मीणा, विधायक महेंद्रजीत मालवीय, रामलाल मीणा, निवर्तमान डीसीसी अध्यक्ष दिनेश खोडानिया और बीच निगम के पूर्व चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ शामिल हैं। डोटासरा ने कहा कि पार्टी ने पहले से ही चुनावों को लेकर अपनी तैयारियां कर रखी हैं। दावा किया कि कांग्रेस दोनों सीटों पर चुनाव जीतेगी।

जयपुर, वल्लभनगर और धरियावद उपचुनाव की तारीख के ऐलान के साथ ही भाजपा ने भी तैयारी तेज कर दी है, लेकिन कांग्रेस के तरह ही भाजपा में भी वल्लभनगर सीट पर प्रत्याशी को लेकर विवाद है। भाजपा के कुछ नेता चाह रहे है कि इस सीट से उपचुनाव में रणधीर सिंह भींडर को मैदान में उतारा जाए जबकि नेता-प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया खुले तौर पर विरोध कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि सर्वे रिपाेर्ट और सामूहिक निर्णय के आधार पर प्रत्याशी सहित चुनाव लड़ने की रणनीति पर फैसला हाेगा। उधर ये भी तय माना जा रहा है कि धरियावद सीट पर दिवंगत विधायक गाैतमलाल मीना के परिवार में से ही टिकट मिल सकता है। बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने अलग -अलग बयान देकर दावा किया कि दाेनाें जगह कमल खिलेगा।

  • कांग्रेस-भाजपा के लिए अपनों से निपटना चुनौती।
  • दिवाली सेे पहले किसे मिलेगा आतिशबाजी करने का मौका, किसका निकलेगा दिवाला।

वल्लभनगर में भींडर काे चुनाैती नहीं मान रही बीजेपी
गुलाबचंद कटारिया ने एक बार फिर दावा किया कि वल्लभनगर विधानसभा सीट जीतना बीजेपी के लिए बड़ी चुनाैती नहीं है। उनका तर्क है कि 1952 से पार्टी इस सीट पर मजबूत रही है। हालांकि रणधीर सिंह भींडर के आने से त्रिकाेणिय मुकाबला जरूर हुआ लेकिन बीजेपी ने अच्छे - खासे वाेट हासिल किए थे।

धरियावद पर दबदबा वापस रखना चाहेगी बीजेपी
धरियावद विधानसभा सीट बीजेपी की सीट मानी जाती है। ऐसे में पार्टी की संभावित रणनीति दिवंगत विधायक गाैतमलाल मीना के परिजनाें में से किसी काे टिकट देने की रहेगी। ऐसा इसलिए भी क्याेंकि अप्रैल में हुए विधानसभा चुनाव में साहनभुति की लहर के तहत दिवंगत विधायकाें के रिश्तेदाराें ने जीत हासिल की थी।

खबरें और भी हैं...