• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Congress Leader Late. The BJP, Surrounded By The Remark Made On Shishram Ola, Had To Apologize, Tweeted Saying – The Comment Was Not In Reference To Him, His Contribution Deserves Respect

बैकफुट पर आए गौरव भाटिया:​​​​​​​दिवंगत कांग्रेस नेता ओला पर की गई टिप्पणी से घिरी भाजपा तो माफी मांगी, ट्वीट कर कहा- टिप्पणी उनके संदर्भ में नहीं थी, उनका योगदान सम्मान के लायक

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया। - Dainik Bhaskar
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया।

कांग्रेस के दिवंगत वरिष्ठ नेता शीशराम ओला पर की गई टिप्पणी के बाद भाजपा बैकफुट पर आ गई है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने अपने ट्वीट पर सफाई देते हुए ओला को महान व्यक्तित्व बताया और कहा है कि वह टिप्पणी उनके लिए नहीं थी।

भाटिया की शनिवार को की गई टिप्पणी के खिलाफ राजस्थान कांग्रेस सहित देशभर में कांग्रेस के नेताओं ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा था। सीएम अशोक गहलोत से लेकर पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सहित ओला की पुत्रवधु आकांक्षा ओला ने भी भाजपा और उनके प्रवक्ता की जमकर खिंचाई की।

विरोध के बाद पलट गए भाटिया
जमकर विरोध और बदनाामी के बाद गौर भाटिया बैकफुट पर आ गए। उन्होंने ट्वीट कर स्व. ओला के प्रति सम्मान जताया। लिखा, ‘स्वर्गीय शीशराम ओला जी महान व्यक्तित्व थे। स्वर्गीय शीशराम ओला जी के संदर्भ में वह टिप्पणी नहीं थी। समाज और हमारे देश के लिए उनका योगदान सम्मान के लायक है।’

जबकि पहले भाटिया ने कहा था- जिनका हिल गया था पुर्जा, उनमें मनमोहन सिंह जी ढूंढ रहे थे ऊर्जा
केंद्रीय कैबिनेट विस्तार पर चल रही टीवी डिबेट में BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा, ’जून 2013 में कांग्रेस के मंत्रिमंडल विस्तार में 85 साल की उम्र के शीशराम ओला को शामिल गया था। 'जिनका हिल गया था पुर्जा, उनमें मनमोहन सिंह जी ढूंढ रहे थे ऊर्जा', हमारे लिए जनता का हित सर्वोपरि है और उसी को ध्यान में रखकर ये मंत्रिमंडल विस्तार किया गया है”

इसके बाद उग्र हुई कांग्रेस
इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने गौरव भाटिया के खिलाफ बयानों की बौछार कर दी। हमला करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने लिखा- पद्मश्री के सम्मान से सम्मानित, किसानों के गौरव रहे स्व. शीशराम ओला के बारे में की गई यह टिप्पणी बेहद शर्मनाक और निंदनीय है। उन्होंन कहा, ‘सतीश पूनिया, क्या आप भी आपकी पार्टी के इन सज्जन महानुभाव के ऐसे घटिया विचारों से सहमत हैं? आखिर किसान कौम से इतनी नफरत क्यों है भाजपा को?’

ओला की पौत्रवधु आकांक्षा ओला ने लिखा- बीजेपी के दलबदलू प्रवक्ता नहीं जानते 2009 में आडवाणी 81 की उम्र में PM पद की दावेदारी कर रहे थे, जिनका सपना मनमोहनजी की वापसी से चकनाचूर हो गया। 2004 तक वाजपेयी जी 80 की उम्र में PM थे, जिनका वापसी का सपना सोनिया गांधी ने चकनाचूर कर दिया। बड़ों की इज्जत करना सीखो।’

दिवंगत कांग्रेस नेता पर BJP की टिप्पणी

खबरें और भी हैं...