पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पद पाने की जद्दो-जहद:कांग्रेस विधायक पावर के लिए बहा रहे पसीना, राजस्थान के रिटायर्ड ब्यूराेक्रेट चुपचाप कुर्सी पाने में हाे रहे कामयाब

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व आईपीएस हरिप्रसाद शर्मा को एक दिन पहले ही राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का चेयरमेन बनाया है। - Dainik Bhaskar
पूर्व आईपीएस हरिप्रसाद शर्मा को एक दिन पहले ही राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का चेयरमेन बनाया है।
  • एक भी विधायक को न मंत्री पद मिला और न ही बोर्ड व आयोग में ओहदा नसीब हुआ

राज्य सरकार से रिटायर्ड हो रहे आईएएस, आईपीएस अफसर कांग्रेस के विधायकाें और नेताओं के ज्यादा सत्ता का सुख पाने में कामयाब हो रहे हैं। पूर्व आईपीएस हरिप्रसाद शर्मा को एक दिन पहले ही राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का चेयरमेन बनाया है। 2018 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट लेने के लिए भी दावेदारी कर चुके थे, लेकिन तब टिकट नहीं मिल पाया।

दूसरी तरफ कुर्सी पाने के लिए कांग्रेस विधायकाें और नेताओं ने दिल्ली तक घमासान मचा चुके। अंदरुनी रार दिल्ली दरबार तक पहुंच चुकी, लेकिन आज तक न किसी विधायक को मंत्री पद मिला और न ही अकादमी, बोर्ड, आयोग में सरकारी ओहदा नसीब हुआ। करीब 50 नेताओं के ऐसे सपने अभी तक राजनीति के भंवर में गुम हैं। दूसरी तरफ बिना किसी हो-हल्ले के ब्यूरोक्रेट्स मंत्री जैसा पद पाने में सफल हो गए। 9 आईएएस और 3 आईपीएस रिटायरमेंट के बाद फिर से सरकार के पावरफुल माने जाने वाले पदों पर लगाए गए हैं।

कोई सीएम का सलाहकार है तो कोई सूचना आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त, आरपीएससी चेयरमेन से लेकर आरपीएससी, अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड से लेकर रेरा जैसे संस्थानों में सर्वोच्च पद पाने में सफल हो गए। इन अफसरों की हैसियत किसी मंत्री से कम नहीं है। पावरफुल पद पाने वाले अफसर सत्ता सुख की दौड़ में चक्करघिन्नी बने नेताओं के आंख की किरकिरी बने हुए हैं।

चीफ सेक्रेटरी से तीन माह पहले हटाया, फिर सीएम सलाहकार और अब मुख्य सूचना आयुक्त बने गुप्ता पूर्व सीएस डीबी गुप्ता को 30 सितंबर 2020 के रिटायरमेंट से तीन माह पहले ही हटाकर सीएम सलाहकार बना दिया। सितंबर में रिटायर हुए। उसी दिन सीएम का सलाहकार बनाया गया। पिछले दिनों बहुप्रतीक्षित खाली पोस्ट मुख्य सूचना आयुक्त के पद पर उन्हें लगाया गया। डीबी गुप्ता को सीएस पद से हटाने की चौकाने वाली घटना के बाद से कयास थे कि वे सरकार में कौनसा बड़ा पद पाएंगे।
पिछले दो साल से राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर कांग्रेस से लेकर सरकार तक में मंथन जारी, लेकिन नतीजा अब तक शून्य

ये हैं सीएम के सलाहकार
रिटायरमेंट के बाद अरविंद मायाराम और डाॅ. गोविंद शर्मा नई सरकार आने के बाद से मुख्यमंत्री सलाहकार के पद पर लगाए गए।
ये रेरा में: पूर्व चीफ सेक्रेटरी से लेकर परिवहन के एसीएस तक शामिल
राजस्थान रिअल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी के चेयरमेन के पद पर कांग्रेस सरकार ने आते ही पूर्व सीएस एनसी गोयल को लगाया। उनके बाद परिवहन के एसीएस पद पर रहे शैलेंद्र अग्रवाल को रेरा सदस्य बनाया गया। दोनों आईएएस रेरा में सेवाएं दे रहे हैं।

पूर्व जलदाय एसीएस रामलुभाया जवाबदेही कानून की कमेटी में
वर्षों तक जलदाय विभाग के एसीएस रहे पूर्व आईएएस रामलुभाया को कांग्रेस सरकार ने रिटायरमेंट बाद सरकार की जवाबदेही कानून के लिए बनाई कमेटी में शामिल किया गया। उन्हें कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है।

पूर्व कलेक्टर रेट में लगाए
जयपुर के पूर्व कलेक्टर रहे जगरूपसिंह यादव और मातादीन शर्मा को रिटायर होने के बाद राजस्थान सिविल सेवा अपील अधिकरण में सदस्य बनाया गया। इनकी नियुक्ति लंबे इंतजार के बाद हुई।

पूर्व आईएएस जीएस संधु पट्टा वितरण अभियान की हाई-पावर कमेटी में
यूडीएच के पूर्व एसीएस व केंद्र में वित्त केबिनेट सचिव रहे जी एस संधु को प्रशासन शहरों के संग अभियान की हाई पावर कमेटी में गत दिनों शामिल किया गया। संधु नगरीय विकास विभाग के सबसे बड़े अभियान प्रशासन शहरों के संग के संचालन के लिए हाई पावर कमेटी में लिए गए।

शांति अहिंसा सेल में बिस्सा
सरकार ने डेढ़ साल पहले महात्मा गांधी नाम से शांति एवं अहिंसा सेल बनाया। इसमें छह लोग लगाए। पूर्व आईएएस एस एस बिस्सा को इस सेल में कोर्डिनेटर लगाया गया।
मानक नहीं

राज्य में हर सरकारों के कार्यकाल में रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस अफसरों को लगाने के लिए कोई मापदंड नहीं है। पिक एंड चूज के आधार पर इनकी पोस्टिंग की जाती है।

भर्तियों से जुड़े दोनों बोर्ड के चेयरमैन पूर्व आईपीएस के पास

राजस्थान में भर्ती से जुड़े दोनों संस्थान आरपीएससी और कर्मचारी सेवा चयन बोर्ड के चेयरमैन पद पर पूर्व आईपीएस बिठाए गए हैं। पूर्व डीजीपी डाॅ. भूपेंद्र यादव का रिटायरमेंट विवादों में रहा। लेकिन नियमानुसार उनके डीजीपी का 2 साल का कार्यकाल 14 अक्टूबर 2020 को पूरा होने पर सरकार ने उनको मंत्री की हैसियत वाला पद दिया और आरपीएससी का चेयरमैन बनाया।

इसी तरह डीजी एसीबी रहे आलोक त्रिपाठी को रिटायरमेंट बाद जोधपुर स्थित सरदार पटेल यूनिवर्सिटी आफ पुलिस का वाइस चांसलर बनाया। अब तीसरे पूर्व आईपीएस हरिप्रसाद शर्मा को राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का चेयरमेन बनाया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

और पढ़ें