पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Congress Will Make The Councilor The Winning Councilor, Ticket Distribution Will Be Done After 17, Applications Are Asking On PCC Website

नगर निगम चुनाव 2020:जीते पार्षद को ही मेयर प्रत्याशी बनाएगी कांग्रेस, 17 के बाद होगा टिकट वितरण, पीसीसी की वेबसाइट पर मांग रहे आवेदन

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टिकट के लिए विधायक प्रताप सिंह से मुलाकात करते कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
टिकट के लिए विधायक प्रताप सिंह से मुलाकात करते कार्यकर्ता।
  • फीडबैक के लिए प्रभारी मंत्री आज जाएंगे जिलों में, ऑनलाइन आवेदन भी मंगाए जा रहे
  • ऑनलाइन आवेदन की इस प्रक्रिया में दावेदारों का भरोसा कम ही नजर आ रहा है

निकाय चुनावों में टिकटों को लेकर नेताओं की चौखट पर भीड़ बढ़ने लगी है। दावेदारों की भीड़ कम करने के लिए प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि पीसीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर भी टिकट के लिए आवेदन मंगाया जा रहा है, लेकिन ऑनलाइन आवेदन की इस प्रक्रिया में दावेदारों का भरोसा कम ही नजर आ रहा है।

निकाय चुनावों की तैयारियों का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार रात सभी प्रभारी मंत्रियों की बैठक बुलाई। प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि सभी प्रभारी मंत्रियों को गुरुवार को अपने जिलों में फीडबैक लेने के लिए भेजा जाएगा। टिकट बंटवारे का काम 17 अक्टूबर के बाद ही शुरू होगा। तब तक नवरात्र भी शुरू हो जाएंगे।

वहीं निकाय चुनावों को लेकर एआईसीसी की तरफ से बतौर ऑब्जर्वर जयपुर पहुंचे सचिव तरुण कुमार ने कहा कि भले ही हाइब्रिड फार्मूला खत्म नहीं हुआ हो, लेकिन जो पार्षद जीतकर आएंगे महापौर उन्हीं में से ही बनाया जाएगा। निकाय चुनावों में मुख्यमंत्री व मंत्रियों की प्रतिष्ठा भी दांव पर रहेगी।

तरुण कुमार ने कहा कि निकाय चुनाव स्थानीय मुद्दों के आधार पर लड़ा जाता है। उन्होंने कहा कि जयपुर, जोधपुर व कोटा में प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने जो काम किए हैं जनता उसकी के आधार पर वोट करेगी। तरुण कुमार ने कहा इस बार बड़ी संख्या में पार्षद के चुनाव के लिए कांग्रेसी के प्रत्याशियों के आवेदन आए हैं, लेकिन जिताऊ और पार्टी के प्रति निष्ठावान व्यक्ति को ही टिकट मिलेगा।

जयपुर, जोधपुर व कोटा नगर निगम में सभी वार्डों में चुनाव लड़ेगी बसपा
बसपा इस बार जयपुर, जोधपुर व कोटा शहरों में नगर निगम के सभी वार्डों पर प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी ने उम्मीदवारों के चयन के लिए कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेना भी शुरू कर दिया है। बसपा पिछले छह महीने से निगम चुनावों की तैयारी कर रही है। अधिकांश वार्डों में प्रत्याशियों के पैनल बना लिया है।

पार्टी 17 अक्टूबर तक सभी प्रत्याशियों की घोषणा कर देगी। बसपा पर कांग्रेस व दूसरी पार्टियों के असंतुष्ट व मजबूत पदाधिकारियों पर भी नजर है। बहुजन समाज पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष भगवान सिंह बाबा का कहना है कि नगर निगमों में भी जिताऊ उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे जाएंगे। बसपा मजबूती के साथ चुनाव लड़ेगी और जितेगी। पिछले चुनावों में एक प्रधान, दो उपप्रधान व पांच जिला परिषद सदस्य जीते थे। नगर पालिकाओं में भी पांच चेयरमैन बन चुके है।

प्रत्याशियों को चुनाव संबंधी जानकारी देने को भाजपा विधि प्रकोष्ठ ने बनाया कन्ट्रोल रूम
नगर निगम चुनाव में प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं को चुनाव संबंधी जानकारी देने के लिए भाजपा विधि प्रकोष्ठ की ओर से एक कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। भाजपा विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक सुरेन्द्र सिंह नरूका ने बताया कि नगर निगम चुनाव में प्रत्याशी एवं कार्यकर्ताओं को चुनाव सम्बन्धित कार्यवाही, सूचना व जानकारी उपलब्ध करवाने और चुनाव आचार संहिता व कोविड-19 की गाइडलाइन की सुचारू पालना करते हुए प्रचार-प्रसार की जानकारी बाबत भाजपा प्रदेश कार्यालय में विधि प्रकोष्ठ द्वारा कन्ट्रोल-रूम स्थापित किया है। कन्ट्रोल-रूम की मॉनिटरिंग के लिए कुछ अधिवक्ताओं को नियुक्त किया है। प्रत्याशी व कार्यकर्ता इनसे संपर्क कर सकते हैं।

उम्मीदवार किसी से गले नहीं लगें, पैर न छूएं और न ही हाथ मिलाएं : चुनाव आयुक्त

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने कहा कि नगर निगम चुनाव-2020 के दौरान केंद्र व राज्य सरकार, चिकित्सा विभाग और स्थानीय प्रशासन द्वारा जारी कोरोना संबंधी दिशा-निर्देशों की कड़ाई से पालना की जाए। मेहरा ने बुधवार को जयपुर, जोधपुर और कोटा जिलों के जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस आयुक्त या अधीक्षकों और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद किया। चुनाव आयुक्त ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान भी उम्मीदवार या उसके समर्थक किसी के गले नहीं लगे, किसी के पैर ना छूएं और ना ही किसी से हाथ मिलाएं। इसके अलावा जनसमूह में प्रचार करना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। इस दौरान मुख्य निर्वाचन अधिकारी और सचिव श्यामसिंह राजपुरोहित और उप सचिव अशोक जैन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...