• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Conspiracy To Implicate Chaksu MLA Vedprakash Solanki In Honeytrap On January 24, A Woman's Obscene Video Call On The Mobile Phone Of MLA Vedprakash

MLA वेदप्रकाश सोलंकी को हनीट्रेप में फंसाने की साजिश:24 जनवरी को MLA के मोबाइल फोन पर आया था महिला का अश्लील वीडियो कॉल, डीसीपी ने कहा- जिस नंबर से कॉल आया वह नाम व पता ही गलत निकला

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चाकसू से कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने खुद को हनीट्रेप में फंसाने के आरोप लगाए - Dainik Bhaskar
चाकसू से कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने खुद को हनीट्रेप में फंसाने के आरोप लगाए

पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट समर्थक चाकसू से कांग्रेस विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने पार्टी में ही उनके विरोधियों पर हनीट्रैप में फंसाने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। MLA वेदप्रकाश ने मंगलवार को जयपुर में प्रेस कॉफ्रेंस में कहा कि मेरे पीछे ब्लैकमेल करने वाली महिलाओं को लगा दिया है। जिन्होंने मेरे मोबाइल फोन पर वीडियो कॉल किया, ताकि मुझे हनीट्रैप में फंसाकर बदनाम किया जा सके। वे लोग मेरी आवाज को दबाने के लिए कुछ भी करवा सकते है। यहां कुछ भी हो सकता है। विधायक सोलंकी ने आरोप लगाते हुए कहा कि आठ महीने पहले बजाज नगर थाने में शिकायत दर्ज करवा चुका हूं। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

26 जनवरी को विधायक ने गनमैन के जरिए दर्ज करवाया था परिवाद
विधायक वेदप्रकाश के बजाज नगर पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोपों के बाद डीसीपी (पूर्व) प्रहलाद कृष्णियां ने बयान जारी किया। जिसमें बताया कि 26 जनवरी 2021 को चाकसू विधायक वेद प्रकाश सोलंकी द्वारा अपने गनमेन के जरिए बजाज नगर थाने में परिवाद दर्ज करवाया गया था। जिसमें बताया कि 24 जनवरी को मेरे मोबाईल पर एक अज्ञात मोबाईल नम्बर से वाट्सअप वीडियो कॉल आया, जिसमें एक लड़की द्वारा अश्लील हरकतें की व गन्दे गन्दे ईशारे किये गये। इन हरकतों से लगता है कि मुझे बदनाम करने की साजिश है। इन मोबाईल नम्बर की जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएं।

24 जनवरी को आया था विधायक के मोबाइल फोन पर अश्लील वीडियो कॉल
डीसीपी कृष्णियां के मुताबिक बजाज नगर पुलिस ने विधायक सोलंकी का बयान दर्ज करने के लिए उनसे कई बार संपर्क किया। तब उन्होंने 7 अप्रेल में बयान दर्ज करवाए। इसके बाद अनुसंधान में सामने आया कि 24 जनवरी को विधायक के मोबाइल पर एक कॉल के अलावा उन नंबरों से अन्य कोई वीडियो कॉल नहीं आया था। महिला के द्वारा ईशारा करने पर विधायक सोलंकी द्वारा तत्काल फोन कॉल को काट दिया गया था। पुलिस ने उन मोबाइल नंबरों की डिटेल निकलवाई। तब जिस व्यक्ति के नाम व पता सामने आया। पुलिस वहां पहुंची तो वह नाम व पता गलत निकला। इससे जांच आगे नहीं बढ़ सकी। डीसीपी कृष्णियां के मुताबिक परिवाद में अग्रिम जांच जारी है।

खबरें और भी हैं...