पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा बनी दुविधा:बिजली बिलों में प्रिंटिंग की गणना से उपभोक्ता परेशान, स्पॉट बिलिंग के बावजूद दफ्तरों में भीड़

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टैरिफ स्लैब के कारण प्रति यूनिट बिजली का खर्चा भी सवा रुपए प्रति यूनिट तक ज्यादा हो गया। - Dainik Bhaskar
टैरिफ स्लैब के कारण प्रति यूनिट बिजली का खर्चा भी सवा रुपए प्रति यूनिट तक ज्यादा हो गया।
  • गत व वर्तमान पठन की यूनिट और कुल उपभोग में भारी अंतर

प्रदेश में लॉकडाउन के बाद उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए स्पॉट बिलिंग शुरू की गई थी, लेकिन मौके पर दिए जा रहे बिलों में गलतियों की भरमार है। बिजली बिलों में गत पठन व वर्तमान पठन की यूनिट रीडिंग व कुल उपभोग में अंतर आ रहा है। इन गड़बड़ाई गणित को समझने व सुधारने के लिए उपभोक्ताओं को बिजली कंपनियों के दफ्तरों तक जाना पड़ रहा है।

गलतियों व उपभोक्ताओं को हो रही परेशानी पर पेनल्टी भी नहीं लगाई जा रही है। बिल में मई, जून व जुलाई 2018 के उपभोग के हिसाब से स्पेशल फ्यूल सरचार्ज 5 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब जोड़े गए हैं। औसत बिल की जमा राशि में समायोजना करने पर यह कम नहीं हो रहा है। जयपुर डिस्कॉम प्रबंध निदेशक नवीन अरोड़ा का कहना है कि हर समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए हैं।

प्रिंटिंग की गड़बड़ी से बड़ा कंफ्यूजन

स्पाॅट बिलिंग में मौके पर ही मशीन से बिल देते हैं, लेकिन बिलिंग कंपनी की लापरवाही के कारण प्रिंटिंग पेपर मशीन में सही तरीके से सेट नहीं होता है तथा रीडिंग डालने के बाद उलटा-पुलटा प्रिंटिंग हो जाता है। यानि जिस मद की राशि आनी चाहिए थी, उससे अलग राशि जोड़ दी जाती है। इससे उपभोक्ताओं को बड़ा कंफ्यूजन हो रहा है। इसको लेकर एईएन ऑफिस मेंं शिकायतें आ रही हैं।

300 यूनिट से ज्यादा होते ही स्थायी शुल्क 70 रुपए प्रतिमाह बढ़ा

शहर में 300 यूनिट प्रतिमाह से कम होने पर स्लैब में स्थायी शुल्क 275 रु. है, लेकिन अब चार महीने का एक साथ बिल थमा दिया। इससे 300 यूनिट से ज्यादा उपभोग होने पर 345 रुपए प्रति माह स्थायी शुल्क लगता है। कई उपभोक्ताओं के बिलों में 500 यूनिट प्रति माह बिजली खर्च दिखाते हुए 400 रुपए महीना यानि चार महीने के 1600 रुपए स्थायी शुल्क के ही जोड़ दिया। साथ ही टैरिफ स्लैब के कारण प्रति यूनिट बिजली का खर्चा भी सवा रुपए प्रति यूनिट तक ज्यादा हो गया।

खबरें और भी हैं...