पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना घटा, ब्लैक फंगस बढ़ा:कोरोना- 24 दिन में 2 लाख एक्टिव मरीज घटे, ब्लैक फंगस- इतने ही दिन में 50 से 2500 पर पहुंचा

जयपुर4 महीने पहलेलेखक: डूंगरसिंह राजपुरोहित
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • 88% बेड खाली हैं काेविड अस्पतालों में- 14 मई को अस्पतालाें में भर्ती रोगियों की संख्या 35 हजार के करीब थी। अब पूरे प्रदेश में 4457 मरीज ही भर्ती हैं।
  • 80% बेड भर चुके ब्लैक फंगस के मरीजों के- 10 मई तक ब्लैक फंगस के रोगी 50 ही थे। अब ये बढ़कर 2500 पार जा चुके हैं। 127 रोगी तो पिछले 3 दिन में ही बढ़ गए।

राजस्थान में एक महामारी उतार पर है तो दूसरी चरम पर पहुंच गई है। गत 5 से 15 मई के बीच में दूसरी लहर का ऐसा पीक आया था कि प्रदेश में कोरोना के एक्टिव रोगी बढ़कर 14 मई को 2,12,753 हो गए थे और अस्पताल में भर्ती रोगियों की संख्या करीब 35 हजार के आसपास पहुंच चुकी थी। ठीक एक माह बाद अब पूरे प्रदेश में 4457 कोविड-19 रोगी भर्ती हैं, जो कुल का करीब 12% है।

वहीं एक्टिव रोगियों की संख्या भी 13,624 पर आ गई है। यानी पीक के बाद से 24 दिन में ही 2 लाख से एक्टिव रोगी कम हुए हैं। लिहाजा राजस्थान के कोविड-19 के 88% प्रतिशत बेड खाली हो चुके हैं। लेकिन बड़ी समस्या यह है कि ब्लैक फंगस के रोगी लगातार बढ़ रहे हैं। गत 10 मई से लेकर अब तक ब्लैक फंगस के रोगी सीधे 50 से बढ़कर और 2500 पार जा चुके हैं।

यही नहीं ब्लैक फंगस के लिए आरक्षित किए गए बेड करीब 80% फुल हो चुके हैं। एक माह में कोरोना की लहर गई तो अब ब्लैक संदेश की लहर आ चुकी है। ब्लैक फंगस के नए-नए रूप सरकार के लिए इतनी बड़ी मुसीबत बन चुके हैं कि राजस्थान सरकार को दो विशेष विमान भेजकर 5550 टीके एक ही दिन में मंगवाने पड़े। कुल 60000 वायल का कार्य आदेश जारी किया गया है। फिर भी ब्लैक फंगस का लगातार बढ़ना चिंता का विषय है।

भास्कर सवाल- प्रदेश सरकार ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर चुकी, फिर भी आंकड़़े जारी क्यों नहीं कर रही?
सरकार ने 19 मई को ब्लैक फंगस को कोराेना की तरह महामारी घोषित किया था। मकसद था कि इसके जिलेवार मरीजों के आंकड़े अपडेट हों और हर मरीज की जानकारी सरकार तक पहुंच सके। इसी के आधार पर जरूरी दवाएं और संसाधन जुटाने थे। लेकिन अब तक आंकड़े जारी नहीं किए जा रहे। सरकार ने 14 मई को पहली बार ब्लैक फंगस के इंजेक्शन मंगाए थे।

77 दिन बाद 529 नए रोगी
राजस्थान में मंगलवार को पिछले 77 दिन के सबसे कम रोगी 529 मिले। इससे पहले गत 23 मार्च को 480 रोगी मिले थे। पिछले 24 घंटे में 32 लोगों की कोरोना से मौत हुई। प्रदेश के दूसरे सबसे संक्रमित जिले जोधपुर में मंगलवार को मात्र 12 रोगी मिले जो अब तक के सबसे कम है। राजधानी जयपुर में 141 नए संक्रमित मिले और 5 लोगों की मौत हुई। उदयपुर में 42 अलवर में 61 हनुमानगढ़ में 38 रोगी मिले।

विशेष विमान से मंगाई दवा
हमने ब्लैक फंगस को भी काबू करने विशेष विमान से इंजेक्शन मंगाए। कोरोना वैक्सीन में भी केंद्र के भरोसे नहीं बैठे। हमने अपने स्तर पर 101 करोड़ एडवांस देकर 30 लाख टीके के आर्डर दिए। 9 जून को शेष बचे 42 करोड़ के 12.66 लाख टीके भी आ रहे हैं। - रघु शर्मा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

खबरें और भी हैं...