प्रदेश में 2021 में बढ़ी रिश्वतखोरी:सरकारी महकमों में 40% केस बढ़े, राजस्व विभाग में सर्वाधिक; एसीबी ने जारी किए आंकड़े

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान में साल 2020 के मुकाबले 2021 में 40% भ्रष्टाचारी बढ़े हैं। - Dainik Bhaskar
राजस्थान में साल 2020 के मुकाबले 2021 में 40% भ्रष्टाचारी बढ़े हैं।

राजस्थान में साल 2020 के मुकाबले 2021 में 40% भ्रष्टाचारी बढ़े हैं। यह जानकारी राजस्थान भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के आंकड़ों से सामने आई है। कुल 468 लोगों को जेल भेजा गया। सबसे भ्रष्ट कर्मचारी राजस्व, पुलिस, पंचायती, ऊर्जा विभाग व स्वायत्त शासन विभाग के पकड़े गए। वहीं, पकड़े गए 32 लोकसेवक भारत सरकार के हैं। एसीबी के डीजी बीएल सोनी के अनुसार साल 2021 में 501 केस दर्ज हुए, जिनमें 30 ट्रेप की कार्रवाई, 42 पद के दुरुपयोग व 29 आय से अधिक संपत्ति के मामले हैं।

साल 2021 में सर्वाधिक 575 केस कोर्ट में पेश किए गए। वहीं, 571 परिवादों और 54 प्राथमिक जांच में अंतिम निर्णय लिया गया। एसीबी न्यायालयों ने 144 मामलों का निस्तारण किया, जिनमें 55 मामलों में दोषियों को सजा हुई। सरकारी विभागों से 90% मामलों में अभियोजन स्वीकृति मिली। इस साल तत्कालीन दौसा एसपी आईपीएस मनीष अग्रवाल, आईआरएस शशांक यादव व श्रम आयुक्त प्रतिक झांझड़िया, आईएएस नीरज के पवन और प्रदीप गावंडे पर हुई कार्रवाई चर्चित रही। 12 आरएएस व 5 आरपीएस पर कार्रवाई हुई, इनमें एक डिप्टी एसपी तो एसीबी में ही तैनात थे।

पद दुरुपयोग के केस ज्यादा

सालट्रेपअधिक संपत्तिपद दुरुपयोग
20193092788
20203131634
20214302942

खबरें और भी हैं...