महाराजा कालोनी विकास समिति की याचिका पर सुनवाई:अस्पताल को मुरलीपुरा शिफ्ट करने के मामले में कोर्ट ने मांगा जवाब

जयपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हाईकोर्ट ने ढेहर का बालाजी से राजकीय अस्पताल को शिफ्ट करने के मामले में प्रमुख चिकित्सा सचिव, चिकित्सा निदेशक व सीएमएचओ से चार सप्ताह में जवाब देने के लिए कहा है। - Dainik Bhaskar
हाईकोर्ट ने ढेहर का बालाजी से राजकीय अस्पताल को शिफ्ट करने के मामले में प्रमुख चिकित्सा सचिव, चिकित्सा निदेशक व सीएमएचओ से चार सप्ताह में जवाब देने के लिए कहा है।

हाईकोर्ट ने ढेहर का बालाजी से राजकीय अस्पताल को तीन किमी दूर भवानीनगर, मुरलीपुरा में शिफ्ट करने के मामले में प्रमुख चिकित्सा सचिव, चिकित्सा निदेशक व सीएमएचओ से चार सप्ताह में जवाब देने के लिए कहा है। जस्टिस इन्द्रजीत सिंह ने यह निर्देश तरुण कठोड़ व महाराजा कालोनी विकास समिति की याचिका पर दिया। अधिवक्ता प्रेमचंद देवंदा ने बताया कि ढेहर का बालाजी में करीब 25 साल से राजकीय अस्पताल चल रहा है।

इससे स्थानी महाराजा कॉलोनी, अंबाबाड़ी, परसराम नगर, रतन नगर, राधा गोविंद कॉलोनी सहित 15 कॉलोनियों के हजारों लोगों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ मिल रहा है, जहां मौजूदा अस्पताल चल रहा है वहां का किराया 13 हजार रुपए प्रतिमाह है और हर दिन 250 लोगों का आउटडोर है, लेकिन राज्य सरकार स्थानीय लोगों को सुनवाई का मौका दिए बिना एक अन्य विशेष व्यक्ति को लाभ पहुंचाने के लिए इस अस्पताल को तीन किमी दूर 37 हजार रुपए के किराए भवन में शिफ्ट कर रही है, जबकि उस कॉलोनी में पहले से ही जनता क्लिनिक है और पास में भी सरकारी अस्पताल है। अदालत ने मामले में सुनवाई करते हुए राज्य सरकार से जवाब देने के लिए कहा।

खबरें और भी हैं...