• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Covering The Forest Area Of Kota, Bundi And Sawai Madhopur Districts, 1501.89 Sq. Kms.; Forest Department Issued Notification Today

रामगढ़ विषधारी बना राज्य का चौथा टाइगर रिजर्व:कोटा, बूंदी और सवाई माधोपुर जिले के वन क्षेत्र को शामिल कर 1501.89 वर्ग किलोमीटर में बनाया; वन विभाग ने आज जारी की अधिसूचना

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बूंदी, कोटा और सवाई माधोपुर एरिया के अभ्यारण क्षेत्र को राज्य सरकार ने नया टाइगर रिजर्व घोषित किया है। रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व के नाम से बना ये वन क्षेत्र 1501.89 वर्ग किलोमीटर (1.50 लाख हैक्टेयर जमीन) पर है। इस तरह ये राज्य का चौथा और देश का 52वां टाइगर रिजर्व बन गया है। इसे लेकर आज राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी की है। केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट करके इसकी घोषणा की है।

बूंदी जिले में बने इस अभयारण्य पूर्वी क्षेत्र में रणथंभौर टाइगर रिजर्व और दक्षिणी हिस्से में मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व बना है। इस तरह ये नया टाइगर रिजर्व इन दोनों पार्को को कनेक्टिविटी भी देगा। यहां कई ऐतिहासिक जगह जैसे भीमलत आदि है, जिन्हें ट्यूरिस्ट को करीब से देखने का मौका मिलेगा, वहीं स्थानीय लोगों को इस रिजर्व पार्क के बनने से रोजगार भी मिलेगा। आपको बता दें कि इस अभयारण्य क्षेत्र बड़ी संख्या में जंगली जानवर जिसमें चीतल, कैरकल, नीलगाय, चिंकारा, लकड़बग्घा मिलते है।

वर्तमान में एक टाइगर मौजूद
वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक टी-115 वहां मौजूद है और जल्द ही अब यहां टाइगर का कुनबा बढ़ाने के लिए काम किया जाएगा। हालांकि इसके कई चुनौतियां है, जिसमें करीब 5 हजार से ज्यादा लोगों की आबादी को शिफ्ट करना है, जो करीब 8 गांव में बसी है, जो कोर एरिया में बसे है। कोर जोन वो एरिया होता है जहां टाइगर का सबसे ज्यादा चहलकदमी होती है।