• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Crowd Of Candidates Started Gathering In Jaipur, Police administration Took Over The Front At The Temporary Bus Stand; Video Camera Surveillance

जयपुर में जुटने लगे REET के स्टूडेंट:भीड़ से बचने के लिए अस्थाई बस अड्डे पर पुलिस-प्रशासन ने संभाला मोर्चा; CCTV कैमरों से की जा रही निगरानी

जयपुरएक महीने पहले
जयपुर के नारायण विहार और स्थाई बस अड्डे पर लगी बसों की कतार।

राजस्थान में होने जा रही रीट के लिए छात्रों के साथ शासन-प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद हो गया है। शिक्षकों के 31 हजार पदों के लिए रीट में देशभर के 25 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी दो पारी में परीक्षा देंगे। इसमें प्रथम स्तर की परीक्षा में 12 लाख 67 हजार 983 परीक्षार्थी बैठेंगे। जबकि द्वितीय स्तर की परीक्षा में 12 लाख 67 हजार 539 परीक्षार्थियों के बैठने की संभावना है। इसके लिए प्रदेशभर में 3 हजार 993 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस दौरान छात्रों के खाने से लेकर आने-जाने तक की फ्री व्यवस्था की गई है।

रीट से पहले वीरान हुआ जयपुर का सिंधी कैंप बस अड्डा।
रीट से पहले वीरान हुआ जयपुर का सिंधी कैंप बस अड्डा।

जयपुर में रीट शुरू होने के कुछ घंटे पहले से ही अभ्यर्थियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। शहर के नारायण विहार चौराहे पर बनाए गए अस्थाई बस अड्डे पर बड़ी संख्या में दूसरे जिलों के अभ्यर्थी निशुल्क बसों में सफर कर जयपुर पहुंच रहे हैं। जबकि जयपुर जिले के अभ्यर्थी भी अन्य जिलों के लिए बसों में बैठ रवाना हो रहे हैं। इस दौरान रोडवेज प्रशासन के साथ पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारी भी चप्पे-चप्पे पर अभ्यर्थियों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। ताकि रीट की वजह से आम आदमी को परेशान ना होना पड़े।

जयपुर रेलवे स्टेशन पर अपनी ट्रेन का इंतजार करते अभ्यार्थी।
जयपुर रेलवे स्टेशन पर अपनी ट्रेन का इंतजार करते अभ्यार्थी।

वहीं, रीट से पहले जयपुर के सिंधी कैंप बस अड्डे को अस्थाई तौर पर यात्रियों के लिए बंद कर दिया गया है। फिलहाल सिंधी कैंप से सिर्फ वोल्वो बसों का संचालन किया जा रहा है। जिसके चलते चुनिंदा यात्री ही सिंधी कैंप पहुंच रहे हैं। इसके साथ ही रेलवे प्रशासन द्वारा भी रीट अभ्यर्थियों के लिए विशेष ट्रेनें संचालित की जा रही है। जिसके चलते फिलहाल रेलवे स्टेशन पर भी अभ्यर्थियों की भीड़ नजर नहीं आ रही है।

अस्थाई बस अड्डे पर अभ्यार्थियों को दिशा निर्देश देते पुलिस के अधिकारी।
अस्थाई बस अड्डे पर अभ्यार्थियों को दिशा निर्देश देते पुलिस के अधिकारी।

बता दें कि राजस्थान में 20 से 30 सितंबर तक रोडवेज द्वारा रीट अभ्यर्थियों के लिए मुफ्त परिवहन की सुविधा शुरू की गई थी। जिसके तहत प्रदेश भर में 20 हजार से ज्यादा सरकारी और निजी बसों का संचालन किया जा रहा है। जिनमें अभ्यार्थी अपना प्रवेश पत्र दिखाकर निशुल्क यात्रा कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...