कड़ाके की ठंड का अलर्ट, 5 डिग्री के नीचे पारा:पहाड़ों में बर्फबारी से तेजी से बदला मौसम; खेतों में जमी ओस की बूंदें

जयपुर2 महीने पहले

गुलाबी ठंड के बाद अब राजस्थान में सर्दी के तेवर सख्त हो होने लगे हैं। हिमाचल से आने वाली सर्द हवाओं से जमीनी इलाकों का तापमान लगातार गिर रहा है। प्रदेश में न्यूनतम तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। मौसम विभाग के अनुसार नवंबर के आखिर तक तापमान में दो डिग्री की और गिरावट हो सकती है।

विभाग के अनुसार, उत्तर-पश्चिमी राजस्थान के कई शहरों में चली सर्द हवाओं के कारण रेगिस्तानी इलाकों में भी रात में सर्दी महसूस होने लगी है। बीती रात उदयपुर, जोधपुर, जैसलमेर, अजमेर समेत कई शहरों में न्यूनतम तापमान में 3 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट हुई। सबसे ज्यादा सर्द शहर सीकर का फतेहपुर रहा। यहां का न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री रिकॉर्ड हुआ।

दिन में भी गिर रहा पारा

राज्य में मौसम की स्थिति देखें तो रात के साथ-साथ दिन में भी तापमान गिर रहा है। कल जालोर, डूंगरपुर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, उदयपुर, अलवर में अधिकतम तापमान भी करीब 1.5 डिग्री सेल्सियस तक नीचे चला गया। वहीं, 25.3 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ अलवर में सोमवार सबसे ठंडा दिन रहा।

चूरू में बीती रात न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस कम रहा। चूरू के अलावा बीकानेर, कोटा, उदयपुर, सीकर और अजमेर में भी न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे चला गया है।

सीकर में पिछले 24 घंटे के दौरान न्यूनतम तापमान में 3 डिग्री सेल्सियस तक गिरावट दर्ज हुई है। यहां एक दिन पहले न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस था, जो गिरकर आज 8 पर पहुंच गया।

धार्मिक-पर्यटन स्थल भीमलत (बूंदी) में सर्दी में भी झरना चल रहा है। झरने के ऊपर बने भीमलत बांध से किसानों को सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है।
धार्मिक-पर्यटन स्थल भीमलत (बूंदी) में सर्दी में भी झरना चल रहा है। झरने के ऊपर बने भीमलत बांध से किसानों को सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है।

फतेहपुर में जमने लगी बर्फ
सर्दी के कारण ओस की बूंद खेतों में जमने लगी हैं। गलन भरी इस सर्दी से लोगों की दिनचर्या में भी बदलाव आने लग गया। लोग यहां अब सुबह-शाम सर्दी से बचने के लिए अलाव जलाने लगे हैं। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो मौसम साफ होने और अगले एक सप्ताह तक किसी भी सिस्टम के नहीं आने से यहां सर्दी का असर और बढ़ सकता है।

माउंट आबू में सर्दी बढ़ने के साथ ही टूरिस्ट की संख्या भी बढ़ने लगी है। बीते एक सप्ताह से राजस्थान के अलावा गुजरात से भी ट्यूरिस्ट बड़ी संख्या में यहां पहुंच रहे हैं।
माउंट आबू में सर्दी बढ़ने के साथ ही टूरिस्ट की संख्या भी बढ़ने लगी है। बीते एक सप्ताह से राजस्थान के अलावा गुजरात से भी ट्यूरिस्ट बड़ी संख्या में यहां पहुंच रहे हैं।

जयपुर, अलवर, सीकर, चूरू, गंगानगर, जोधपुर समेत कई शहरों में सूरज के ढलने के साथ ही ठिठुरन बढ़ने लग जाती है। लोग भले ही दोपहर में बिना गर्म कपड़े के घूम लेते हो, लेकिन शाम होते ही गर्म कपड़ों के बिना बाजार में नहीं निकला जा रहा है।

इसका असर शहरों से दूर ग्रामीण इलाकों में ज्यादा देखने को मिल रहा है। यहां सूरज ढलने से पहले बाजारों में लोगों की भीड़ कम होने लग गई, जो अमूमन रात 8 बजे तक दिखती थी।

जयपुर में भी सर्दी का असर बढ़ने के साथ पर्यटकों का पहुंचना शुरू हो गया है। यहां दिल्ली व हरियाणा से ट्यूरिस्ट आ रहे हैं।
जयपुर में भी सर्दी का असर बढ़ने के साथ पर्यटकों का पहुंचना शुरू हो गया है। यहां दिल्ली व हरियाणा से ट्यूरिस्ट आ रहे हैं।

क्यों बढ़ी अचानक से इतनी सर्दी

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक उत्तर भारत के जम्मू-कश्मीर, हिमाचल, लद्दाख में पिछले दिनों पश्चिमी विक्षोभ के बाद बर्फबारी और बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक पिछले सप्ताह वेस्टर्न डिस्टर्बेंस जाने के बाद दूसरा नया सिस्टम अभी तक नहीं आया है, जिसके कारण नॉर्दन हवाओं का पैटर्न सेट हो गया।

उत्तरी हवाएं पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान की तरफ आनी शुरू हो गई। वहीं इन राज्यों में मौसम भी बिल्कुल साफ रहने लगा है, जिससे तापमान गिरने लगा है। मौसम विशेषज्ञों की माने जब तक कोई नया सिस्टम नहीं आएगा तब तक तापमान में बढ़ोतरी नहीं होगी।

माउंट आबू में हल्के कोहरे के बीच सनसेट पॉइंट पर पहुंच रहे लोग।
माउंट आबू में हल्के कोहरे के बीच सनसेट पॉइंट पर पहुंच रहे लोग।

अब आगे क्या?

जयपुर मौसम केन्द्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा के मुताबिक अगले एक सप्ताह तक राजस्थान में कोई नया वेस्टर्न डिस्टर्बेंस आने की संभावना नहीं है। इस कारण फिलहाल अगले एक सप्ताह तक राज्य में कहीं भी बारिश या बादल छाने के कोई आसार नहीं है। मौसम बिल्कुल साफ है और उत्तरी हवाएं लगातार आ रही है, इससे यहां अभी कुछ शहरों में तापमान 1 से 2 डिग्री सेल्सियस तक और गिर सकता है।

प्रदेश के प्रमुख शहरों का तापमान

शहरअधिकतमन्यूनतम
अजमेर29.511.9
अलवर25.311.3
बाड़मेर31.316
बीकानेर28.910.2
जयपुर28.312.4
जैसलमेर2913.3
जोधपुर29.313
कोटा2811.8
गंगानगर27.212

इन शहरों में तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा

शहरअधिकतमन्यूनतम
फतेहपुर (सीकर)27.34.8
चूरू27.46.4
भीलवाड़ा27.99
पिलानी (झुंझुनूं)29.19.6
सीकर268
उदयपुर289.8
नागौर27.59
चित्तौड़गढ़28.67.1
हनुमानगढ़27.69.6
करौली27.58.9
माउंट आबू24.48
खबरें और भी हैं...