राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की बड़ी कार्रवाई:डमी कैंडिडेट बैठाने, फर्जी डिग्री लगाने वाले 122 अभ्यर्थी डिबार

जयपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने फर्जी अभ्यर्थी, फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी लगने का प्रयास करने वाले और नकल के लिए जिम्मेदार 262 अभ्यर्थियों के खिलाफ बुधवार को बड़ी कार्रवाई की। इनमें से 122 अभ्यर्थियों के 3 साल से आजीवन तक बोर्ड की भर्ती परीक्षाओं से डिबार कर दिया गया है। साथ ही 21 अभ्यर्थियों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई गई है। फर्जी डिग्री के आधार पर नौकरी लगने का प्रयास करने वालों में सर्वाधिक अभ्यर्थी पूर्व प्राथमिक शिक्षक भर्ती (एनटीटी) के हैं। इस भर्ती के ही 119 अभ्यर्थियों की पहचान की गई है। इनके खिलाफ कार्रवाई प्रक्रियाधीन है।

अध्यक्ष हरि प्रसाद शर्मा ने बताया 122 अभ्यर्थियों को तीन साल से आजीवन डिबार किया है। यह कार्यवाही बोर्ड के विनियम अनुचित साधनों की रोकथाम विनियम, 2016 के अंदर की गई है। इसके साथ ही राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों के उपयोग की रोकथाम) अधिनियम के तहत 21 अभ्यर्थियों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण भी दर्ज करवाए हैं। इस धारा में आर्थिक दण्ड के साथ 3 से सात वर्ष सजा का प्रावधान है।

किस भर्ती के कितने अभ्यर्थी 3 साल से आजीवन किए गए डिबार

  • पटवारी भर्ती 2015 - 66
  • प्रयोगशाला सहा. भर्ती 2018 - 28
  • कृषि पर्यवेक्षक भर्ती 2018 - 7
  • सुपरवाइजर महिला अधिकारिता भर्ती 2018 - 5
  • एलडीसी भर्ती 2018 - 6
  • पीटीआई भर्ती 2018 - 1
  • लाइब्रेरियन भर्ती 2018 - 8
  • ग्राम सेवक भर्ती 2015 - 1
  • कुल - 122

बोर्ड पारदर्शी व्यवस्था को लेकर संकल्पित है। अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि किसी के बहकावे में नहीं आएं।- हरि प्रसाद शर्मा, अध्यक्ष, राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड

भर्ती में फर्जी डिग्रीधारियों के शामिल होने का अंदेशा जताया जाता रहा है। -राजेश तिवाड़ी, विष्णु शर्मा, एनटीटी भर्ती से जुड़े अभ्यर्थी

खबरें और भी हैं...