गोवर्धन और भैया दूज पर वाहनों की लगी कतार:95% वाहनों पर फास्टैग के बावजूद टोल पर रही भीड़

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

95% वाहनों पर फास्ट टैग लगने के बावजूद गोवर्धन और भैया दूज पर टोल प्लाजा पर वाहनों की कतारें नजर आईं। लोगों को वाहन निकालने के लिए इंतजार करना पड़ा। टोल प्लाजा पर बूथों की कमी होना इसका मुख्य कारण रहा। कोरोना में जिस टोल से 11 हजार वाहन निकल रहे थे, अब वहां वाहनों की संख्या 31 हजार पहुंच गई है, लेकिन गोवर्धन और भैया दूज पर यह आंकड़ा 50 हजार के पार पहुंच गया।

ठिकरिया और बस्सी टोल प्लाजा पर 500 मीटर तक लाइनें नजर आईं। प्रबंधन को अतिरिक्त स्टाफ लगाकर इमरजेंसी लाइनों से पोस मशीनों से वाहनों को निकालना पड़ा। लोगों को वाहन निकालने में तीन मिनट से अधिक का समय लग रहा है, जबकि नियमों के तहत 10 सैकंड से अधिक समय नहीं लगना चाहिए। प्रदेश के नेशनल हाईवेज पर 89 टोल प्लाजा लगे हुए हैं। इन प्लाजाओं से हर दिन करीब 6 लाख से अधिक वाहन गुजर रहे हैं। वहीं स्टेट हाईवेज पर लगे 184 टोल प्लाजा से हर दिन करीब 1 करोड़ वाहन गुजर रहे हैं।

पीली लाइन शुरू होने पर नहीं लगेंगी कतारें, 10 सैकंड में प्रोसेस पूरा करना जरूरी, नहीं तो टोल नहीं ले सकेंगे
टोल प्लाजाओं पर 100 मीटर के दायरे में पीली लाइन शुरू हो जाएगी तो टोल प्लाजाओं पर सुबह-शाम वाहनों की भीड़ नहीं लगेगी। इसकी वजह है कि टोल प्लाजा प्रशासन को 10 सैकंड में टोल लेने की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। अन्यथा टोल नहीं ले सकेंगे।

11 हजार से बढ़कर 40 हजार तक पहुंची वाहनों की संख्या
ठिकरिया टोल पर 24 घंटे में 40 हजार वाहन गुजर रहे हैं। कोरोना में 11 हजार वाहन रह गए थे। इसी प्रकार बस्सी टोल पर वर्तमान में 18 हजार वाहन गुजर रहे हैं, जबकि कोरोना की दूसरी लहर में 6 हजार वाहन रह गए थे। मनोहरपुरा-शाहपुरा टोल पर 40 हजार, दौलतपुरा टोल पर 24 हजार वाहन और टाटिया टोल पर 22 हजार वाहन गुजर रहे हैं। शिवदासपुरा टोल पर 21 हजार वाहनों निकल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...