क्या जोधपुर-करौली, भीलवाड़ा दंगे का एक ही पैटर्न था?:SIT करेगी जांच, पुलिस ने माना- सोची समझी साजिश थी

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में एक के बाद एक हो रहे दंगे और आगजनी की घटना को लेकर पुलिस मुख्यालय ने SIT (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) का गठन किया है। यह टीम करौली, जोधपुर और भीलवाड़ा में हुए दंगों की रिपोर्ट बनाएगी। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस विजिलेंस बीजू जॉर्ज जोसेफ के नेतृत्व में 6 सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया है। इसको लेकर DGP एमएल लाठर ने आदेश जारी किया है।

SIT टीम करौली, जोधपुर और भीलवाड़ा शहर में हुई घटनाओं के आपस में संबंध की जांच करेंगी। इनके पीछे किसी प्रकार का षड्यंत्र और योजना होने के संबंध में भी जांच होगी। जांच दल में महानिरीक्षक पुलिस अपराध राजेंद्र सिंह, पुलिस अधीक्षक एसओजी गौरव यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महिला अपराध एवं अनुसंधान सेल करौली किशोर बुटोलिया, एसीपी पश्चिम जोधपुर आयुक्तालय चक्रवर्ती सिंह और सीओ सदर भीलवाड़ा रामचंद्र शामिल किए गए हैं ।

करौली, भीलवाड़ा, जोधपुर में हुई घटना को लेकर माना जा रहा है कि यह एक सोची समझी साजिश का परिणाम है। एसआईटी का गठन करने का मुख्य कारण भी यह है कि तीनों जिलों के घटनाओं की समीक्षा की जाए। देखा जाएगा की तीनों घटनाओं में समानता क्या रही। किन लोगों ने उपद्रवियों को भड़काया, पथराव और आगजनी की। जिला पुलिस को भी SIT की जांच में सहयोग करने और इनपुट देने के निर्देश दिए गए हैं।

एक माह में देनी होगी रिपोर्ट
DGP एमएल लाठर ने बताया कि विजिलेंस टीम से जांच करना बहुत जरूरी है। इन तीन जिलों में हुई घटनाओं से पता चल जाएगा कि राजस्थान को कौन लोग जला रहे हैं। उनका इसके पीछे मकसद क्या है? पुलिस ने इन तीनों घटनाओं में जो एक्शन लिया गया है, वह कितने समय पर लिया गया। अगर नहीं लिया गया तो क्या कारण रहे हैं। इस कारण पुलिस को फ्रंट में आने में देरी लगी। एक माह में एडीजी विजिलेंस डीजीपी को जांच रिपोर्ट देंगे।

जोधपुर के इन क्षेत्रों में 8 मई तक कर्फ्यू

पुलिस उपायुक्त राजकुमार चौधरी ने बताया कि उदय मंदिर थाना क्षेत्र, सदर कोतवाली, सदर बाजार, नागौरी गेट एवं खाण्डा फलसा का संपूर्ण क्षेत्र में 8 मई रात 12 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। साथ ही प्रताप नगर, प्रताप नगर सदर, देव नगर, सूरसागर एवं सरदारपुरा के संपूर्ण क्षेत्र में कर्फ्यू रहेगा।

भास्कर के खुलासे की पूरी खबर यहां पढ़ें

तबाही के लिए करौली में नवसंवत्सर, जोधपुर में ईद-आखातीज:दोनों शहरों में दंगों का कनेक्शन, जानिए पुलिस ने क्या गलतियां दोहराईं