'बालम' में थिरके स्वरूप खान, पहली बार किए डांस मूव्ज:इंडियन आइडल से पहले कभी टीवी नहीं देखा था, रिएलिटी शो क्या होता है नहीं पता था

जयपुर7 महीने पहले

छोटे से गांव से राजस्थानी खुशबु लिए इंडियन आइडल पहुंचे सिंगर कपोजर, स्वरूप खान आज एक बड़े बॉलिवुड सिंगर्स में से एक हैं। इस बार स्वरूप ने अपनी राजस्थानी कलचर को अपने स्वैग का तड़का लगया है। अपने इस नए अदाज को लेकर स्वरूप ने भास्कर को बताया की ये स्टाइल उनके नए गाने बालम के लिए किया है। इस अंदाज को लेकर स्वरूप का कहना था की पंजाबी, हरियाणवी हर कोई आज के हिसाब से गाने में स्वैग और स्टाइल ले कर आ रहा है। जो की यूथ को काफी अट्रैक्ट कर रहा है, लेकिन राजस्थानी गाने आज भी एक ही तरह की लोकेशन और स्टाइल में शूट हो रहे हैं।

इसी ट्रेंड को तोड़ते हुए और यूथ को अपने राजस्थान से जोड़ने के लिए मैंने बालम गाना बनाया है। सिंगर स्वरूप खान के 'बालम' सॉन्ग को अब तक छह लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। राजस्थानी भाषा के साथ स्वरूप खाने के स्वैग को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। इस गाने को स्वरूप खान ने ही लिखा और कमपोज किया है। अमोल डांगी ने इस मस्ती भरे गाने को म्यूजिक दिया है। अभिषेक ने मिक्स किया है। इसकी शूटिंग गोवा में की गई है।

देश के साथ ही विदेशी धरती पर भी अपनी छाप छोड़ चुके स्वरूप के इस सान्ग में पहली बार विदेशी मॉडल्स के साथ डांस स्टेप करते हुए नजर आ रहे हैं। स्वरूप का कहना है कि उन्हें अब तक फोक सिंगर के रूप में ही जाना जाता रहा है लेकिन कुछ अलग करने की चाह और अपने फैन्स को कुछ नया दिखाने की कोशिश उन्होंने इस सॉन्ग के जरिए की है। उनका कहना है कि मेरा प्रयास है कि अब तक विदेशी धुनों पर थिरकने वाले लोग को लोक संगीत की आवाज और धुनों पर थिरकाना है। इस गाने की कोरियोग्राफी गोविंद ने की है। इस गाने के डायरेक्टर अचिंत बंसल हैं। वहीं, इसे प्रोड्यूस शिवम कुकरेजा ने किया है।

स्वरूप खान की जैसलमेर घराने की टोली
स्वरूप खान की जैसलमेर घराने की टोली

पीके, पदमावत सहित कई बॉलीवुड फिल्मों के गानों को अपनी आवाज दे चुके स्वरूप बताते हैं कि वह 5 साल की उम्र से ही अपने पिता नियाज खान और ताऊ पद्मश्री अनवर खान के साथ परफॉर्म करते थे। स्वरूप कहते हैं गायकी उनके खून में है। स्वरूप खान जैसलमेर के बंया गांव के रहने वाले है। स्वरूप की प्लेबैकसिंगर की जर्नी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं हैं। स्वरूप बताते हैं मैं जिस गांव में रहता था वहां टीवी तक नहीं था। हम बस राज घरानों या किसी उत्सव में हीं गाना बजाना किया करते थे। मैं मेरे ताउ के साथ अलग अलग जगह गाने जाता था।

हमें मान तो खूब मिलता था यहां तक की हमारे सर की ये पगड़ी जो हम हमेशा पहनते हैं ये हमें राज घराने से बतौर सम्मान मिली है। लेकिन सम्मान से घर नहीं चलता हम छोटे छोटे शादी ब्याह में गाने पर मजबूर थे। फिर एक शादी में हमारा गाना सुन कर किसी ने मुझसे कहा की तू इतना अच्छा गाता है किसी रियलिटी शो में क्यू नहीं जाता। तब तक हमें पता भी नहीं था की रियेलिटी शो क्या बला है। उसने बताया तो हम इंडियंन आइडल के लिए पूरी टोली लो कर चल दिए। वहां जा कर पता चला की यहां साथ में नहीं अकेले गाते हैं। वहीं, हम सबका अलग अलग ऑडिशन हुआ। मेरी आवाज का जादू चल गया। मैं सलैक्ट हो गया। वो दिन है और आज का दिन अब मैं बॉलीवुड फिल्मों में गाता हुं। लोग मुझे प्लेबैक सिंगर स्वरूप खान के नाम से जानते हैं अच्छा लगता है। स्वरूप बताते हैं लेकिन आज भी जब भी जैसलमेर परिवार के पास जाने का समय मिलता है तो सभी एक साथ मिलकर गाते हैं और परिवार के साथ एन्जॉय करते हैं।

एक राजस्थान के छोटे से गांव बंया मगंणियार घराने के स्वरूप आज बॉलीवुड की नामी हसंती बन चुके हैं।
एक राजस्थान के छोटे से गांव बंया मगंणियार घराने के स्वरूप आज बॉलीवुड की नामी हसंती बन चुके हैं।

उन्होंने बताया कि उन्हें फेमस सिंगर लेडी गागा के साथ भी गाने का मौका मिला है। इसमें जहां लेडी गागा ने इंग्लिश के बोल दिए हैं, वहीं उन्होंने राजस्थानी म्यूजिक पर कुछ लाइनें गाई हैं। यह एलबम सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर काफी फेमस रहा था। इसके साथ ही आमिर खान की फिल्म पीके के गाने ठरकी छोकरों को लोगों ने काफी पसंद किया। एक अन्य गाना घूमर को भी उन्होंने अपनी आवाज दी ।

यहां सुने बालम सॉग- link

खबरें और भी हैं...