• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Discussion Of Ticket Distribution Formula In UP And Gujarat Increased The Concern Of BJP Leaders, Worry Because If The Experiment Is Successful Then It Will Be Implemented In Rajasthan Too.

टिकट काटने के फॉर्मूलाें से राजस्थान में बीजेपी नेता चिंतित:यूपी व गुजरात में टिकट वितरण फॉर्मूले की चर्चा से बढ़ी भाजपा नेताओं की चिंता, क्योंकि प्रयोग सफल रहा तो राजस्थान में भी होगा लागू

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टिकट वितरण में नए चेहरे लाने, उम्र का बैरियर रखने से लेकर विधायकों के टिकट काटने के फॉर्मूलाें से राजस्थान में बीजेपी नेताओं की चिंता बढ़ गई हैं। - Dainik Bhaskar
टिकट वितरण में नए चेहरे लाने, उम्र का बैरियर रखने से लेकर विधायकों के टिकट काटने के फॉर्मूलाें से राजस्थान में बीजेपी नेताओं की चिंता बढ़ गई हैं।

यूपी और गुजरात में अगले साल चुनाव हाेने हैं। बीजेपी ने चुनाव लड़ने की तैयारियां काफी हद तक कर ली है। चुनाव कैसे लड़ा जाएगा इसके लिए नियम-कायदे भी तय किए जा रहे हैं। कई बिंदुओं पर सहमति बन चुकी है। टिकट वितरण में नए चेहरे लाने, उम्र का बैरियर रखने से लेकर विधायकों के टिकट काटने के फॉर्मूलाें से राजस्थान में बीजेपी नेताओं की चिंता बढ़ गई हैं। ऐसा इसलिए क्याेंकि प्रदेश में करीब दाे साल बाद चुनाव हाेने हैं। ऐसे में बीजेपी नेताओं काे चिंता है कि इस तरह का फॉर्मूला राजस्थान में लागू हुआ ताे उनके टिकट पर असर पड़ेगा। उधर हालाताें काे देखते हुए प्रदेश के कई विधायक और पूर्व विधायक सक्रिय हाे गए हैं।

चर्चा ये : 10 हजार वोटों से हारे नेता बदले जाएंगे
बीजेपी का केंद्रीय संगठन अलग-अलग सर्वे कराता रहता है। हाल ही जारी एक सर्वे चर्चा में है। इसमें बीजेपी काे अच्छी स्थिती में बताया गया है। इस सर्वे के बाद इन चर्चाओं ने जाेर पकड़ लिया है कि 10 हजार या इससे कम वाेट से हारने वाले अधिकांश नेताओं काे बदला जाएगा और ज्यादा से ज्यादा नए चेहराें काे माैका दिया जाएगा। पार्टी का इंटरनल सर्वे अभी जारी है। उधर इस तरह की सूचनाओं के बाद पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता सक्रीय हो गए हैं। वे भी उन विधानसभा क्षेत्राें में तैयारियाें में जुटने जा रहे हैं जहां पहले से ही बड़े नेताओं का प्रभाव है।

तैयारी अभी से शुरू
भाजपा ने 2023 में हाेने वाले विधानसभा और 2024 में हाेने वाले लाेकसभा चुनाव के लिए अभी से ही तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए पार्टी की ओर से ग्राउंड लेवल पर काम किया जा रहा है। पिछले दिनाें चिंतन शिविर में आगे के लिए राेड मैप भी तैयार किया गया, जिसके नतीजे आने वाले दिनाें में नजर आएंगे।

यूपी परिणाम से बहुत कुछ तय हाेगा
माना जा रहा है कि यूपी चुनाव परिणाम का असर राजस्थान की राजनीति में देखने काे मिलेगा। अगर यूपी में पार्टी काे सफलता मिली ताे केंद्रीय संगठन के दूसरे राज्यों पर लागू किए कई तरह के फॉर्मूले राजस्थान पर भी लागू हाे सकते हैं। अगर यूपी चुनाव में सफलता नहीं मिली ताे बीजेपी प्लान-2 के तहत नए फॉर्मूले पर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी। हालांकि बीजेपी ने संगठन काे बूथ से लेकर हर स्तर पर मजबूत करके चुनाव लड़ने की तैयारियाें में पहले ही जुट चुकी है और जल्द ही जिला स्तर पर चिंतन-मंथन और लाेकल विवादाें के समाधान की तैयारी हाे रही है।

खबरें और भी हैं...