• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dog Show In Jaipur, Alaskan Melamute Dog Living In Minus 40 Degree Temperature Sparkles Akira Runs On Treadmill To Stay Fit In Corona Period

- 40 डिग्री में भी रह सकता है ये डॉग:इंडिया लाने के लिए 1.5 लाख एक्साइज ड्यूटी देनी पड़ी, रहता है AC में

जयपुर5 महीने पहले
जयपुर में आयोजित डॉग शो में दिखा अलस्कन मेलम्यूट।

जयपुर में वीकेंड पर देश-विदेश से आई अनोखे डॉग ब्रीड्स ने चैंपियन बनने के लिए जोर लगाया। शहर के दशहरा मैदान पर केसीआई (कैनल क्लब ऑफ इंडिया) के राजस्थान चैप्टर की ओर से डॉग शो आयोजित किया गया। इस डॉग शो में देशभर से 300 से अधिक डॉग्स ने हिस्सा लिया। इसमें दिल्ली से आए अलस्कन मेलम्यूट प्रजाति के गब्बर ने भी हिस्सा लिया, जो कि शो में आकर्षण का केंद्र बना हुआ था।

गब्बर के ओनर विक्रांत शौकीन ने बताया डॉग की यह ब्रीड माइनस 40 डिग्री के तापमान में भी रह सकता है। अधिकतम 22 से 25 डिग्री का तापमान सहन कर सकता है। इसीलिए इसके लिए 25 डिग्री टेम्प्रेचर सेट करके ऐसी हमेशा एक्टिव रखना होता है। गब्बर अब तक देशभर में 20 से ज्यादा डॉग शो में इनाम जीत चुका है। यह थाइलैंड से इम्पोर्ट कराया गया है, जिस पर विक्रांत ने करीब 1.5 लाख की एक्साइज ड्यूटी भी दी थी।

यह डॉग थाईलैंड से इम्पोर्ट कराया गया। जिस पर विक्रांत ने 1.5 लाख की एक्साइज ड्यूटी दी
यह डॉग थाईलैंड से इम्पोर्ट कराया गया। जिस पर विक्रांत ने 1.5 लाख की एक्साइज ड्यूटी दी

5 लाख रुपए का अकीता

अकीता ब्रीड के वेब्ले को यूके से दिल्ली इम्पोर्ट किया गया। इसकी कीमत करीब 5 लाख रुपए है। ओनर विशाल देसवाल ने बताया कि डॉग के साथ 24 घंटे 1 ट्रेनर रहता है। अकीता को कोरोना के दौर में फिट रखने के लिए रोजाना 2 किलोमीटर ट्रेडमिल पर दौड़ाया जाता है। इसके लिए 20 से 22 डिग्री टेम्परेचर सेट रखा जाता है।

फिट रहने के लिए रोजाना ट्रेडमिल पर 2 किलोमीटर दौड़ता है अकीरा प्रजाति का वेब्ले
फिट रहने के लिए रोजाना ट्रेडमिल पर 2 किलोमीटर दौड़ता है अकीरा प्रजाति का वेब्ले

हरियाणा, दिल्ली, पंजाब व गुजरात से आए 300 डॉग्स ने लिया हिस्सा
शो के ऑर्गनाइजर व केसीआई के सचिव वीरेन शर्मा ने बताया कि शो में साइब्ररियन हस्की, अमेरिकन अकीता, फ्रेंच बुलडॉग, शित्जू, टॉय पॉम जैसे कई अनोखी ब्रीड्स शामिल हुईं। अलग-अलग कैटेगिरी में आयोजित हुए कॉम्पिटिशंस को लखनऊ के केके त्रिवेदी व बेंगलुरु के टी. प्रीथम ने जज किया। शो में दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब, गुजरात सहित कई राज्यों से आए डॉग्स ने भाग लिया। कॉम्पिटिशन में जजों ने डॉग के चलने, जंप, हाइट और स्ट्रक्चर को देखते हुए मार्क्स दिए।

डॉग शो में जयपुराइट्स ने इंडी पपीज भी गोद लिए। इसके लिए अडॉप्शन कैम्प लगाया गया। जर्मन शेफर्ड नस्ल के डॉग के साथ ऑनर
डॉग शो में जयपुराइट्स ने इंडी पपीज भी गोद लिए। इसके लिए अडॉप्शन कैम्प लगाया गया। जर्मन शेफर्ड नस्ल के डॉग के साथ ऑनर

विदेशी ब्रीड्स के बीच जयपुराइट्स ने गोद लिए इंडी पपीज
इस दौरान जहां विदेशी ब्रीड्स शो में जीतने के लिए दमखम लगा रही थीं, डॉग शो में जयपुराइट्स ने इंडी पपीज भी गोद लिए। इसके लिए अडॉप्शन कैम्प लगाया गया। कैम्प में 55 से अधिक इंडी पपीज गोद लिए। वीरेन शर्मा ने बताया कि डॉग की हेल्दी डाइट में मौसम की कच्ची सब्जियां, रोजाना कोई भी फ्रूट, मल्टी ग्रेन दलिया, शकरकंद, उबले आलू, कद्दू, लौकी, छाछ व दही को जरूर शामिल करें। सिर्फ डॉग फूड पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।

शो में साइब्ररियन हस्की, अमेरिकन अकीता, फ्रेंच बुलडॉग, शित्जू, टॉय पॉम जैसे कई अनोखी ब्रीड्स शामिल हुईं।
शो में साइब्ररियन हस्की, अमेरिकन अकीता, फ्रेंच बुलडॉग, शित्जू, टॉय पॉम जैसे कई अनोखी ब्रीड्स शामिल हुईं।

जयपुर में बीगल घर व शिट्जू की ब्रीड की डिमांड बढ़ी
पिछले 2 सालों में जयपुर में बीगल घर व शिट्जू जैसे डॉग ब्रीड की डिमांड बढ़ी है। इस दौरान डॉग्स में बीमारियों की बात करें तो लेब्रेडोर, बीगल व अलग गोल्डन रिट्रीवर में 10 प्रतिशत तक रहते हैं, ओबेसिटी की परेशानी भी बढ़ी है। एक माह की उम्र से 9 महीने तक बीगल का किताब वजन 8 से 15 किलो के बीच रहना चाहिए। फिलहाल शहर में बीगल 30 किलो तक के भी आ रहे हैं।

पिछले 2 सालों में जयपुर में बीगल घर व शिट्जू जैसे डॉग ब्रीड की डिमांड बढ़ी है।
पिछले 2 सालों में जयपुर में बीगल घर व शिट्जू जैसे डॉग ब्रीड की डिमांड बढ़ी है।

निर्धारित वजन से करीब 2 से 4 किलो ज्यादा वजन का लैब्राडोर, गोल्डन रिट्रीवर में दिखाई दे रहा है। असल में हर डॉग को उसके कुल वजन का 3 प्रतिशत यानी थ चिकन 350 से 500 ग्राम खाना एक दिन में में 5-जी देना चाहिए। डॉग्स से जुड़ी जानकारी सामाजिक देने के साथ रविवार को करीब 55 इंडी कोरिया में डॉग्स अडॉप्ट भी हुए।

खबरें और भी हैं...