• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dotasara Said Hemaramji Has Watered The Congress For Years, Then The Congress Has Given Him A Lot In Return, Has Been Awarded Many Good Posts

पायलट समर्थक MLA के इस्तीफे पर कांग्रेस में उबाल:डोटासरा बोले- हेमारामजी ने वर्षों तक कांग्रेस को सींचा है तो बदले में उन्हें भी कांग्रेस ने बहुत कुछ दिया है, बहुत से अच्छे पदों से नवाजा है

जयपुरएक वर्ष पहले
गोविंद सिंह डोटासरा।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि हेमाराम चौधरी ने वर्षों तक कांग्रेस को सींचा है, तो कांग्रेस पार्टी ने भी उन्हें बहुत कुछ दिया है। कांग्रेस ने हेमाराम चौधरी को बहुत से पदों से नवाजा है। नियम तो अब विधानसभा स्पीकर को देखने हैं। मेरे नियम देखने से कुछ नहीं होने वाला, लेकिन वे बहुत वरिष्ठ और सम्मानीय नेता हैं। उनका मान-सम्मान सरकार और पार्टी में रहेगा। उनसे दो बार बात हो चुकी है।

डोटासरा ने कहा- हेमाराम चौधरी का इस्तीफा एक लाइन में आया है। वे पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और वर्षों तक पार्टी की सेवा की है। उनसे दो बार बात हो चुकी है। उनके कामों की या सुनवाई नहीं होने की जो भी कमी-खामी रही होगी, वह हमारी ड्यूटी में आता है कि उनकी सुनवाई हो। सरकार हमारी है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मेहनत से बनी है। उनके विकास के मामले में कोई कमी है तो हम सम्मान के साथ उनके काम करवाएंगे। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की मेहनत के कारण सरकार बनी है। उसमें सबका सम्मान होना चाहिए। यह हम इंश्योर करेंगे। सीएम भी गंभीर हैं ​कि जनप्रतिनिधि की आशा-अपेक्षा के हिसाब से काम हों।

एक भी कार्यकर्ता नाराज तो वह चिंताजनक

हेमाराम के इस्तीफे को सचिन पायलट के चिंताजनक बताने के सवाल पर डोटासरा ने कहा, एक भी कार्यकर्ता अगर पार्टी से नाराज होता है तो वह किसी भी पार्टी के लिए चिंताजनक होता है। दावे से कह सकता हूं किसी भी कार्यकर्ता के मान-सम्मान में कमी नहीं रहेगी। मेरा मानना है कि हर कार्यकर्ता की आशा और अपेक्षा के अनुरूप होने वाले काम होने चाहिए।

सोलंकी को मान मर्यादा की सीख

वेदप्रकाश सोलंकी के बयान पर डोटासरा ने कहा- हर कार्यकर्ता के काम हों यह सुनिश्चित करेंगे। कार्यकर्ता हों या जनप्रतिनिधि उन्हें भी पार्टी की मान मर्यादा का ख्याल रखना चाहिए।

कलेक्टर का पक्ष

डोटासरा ने कहा- जहां तक बाड़मेर कलेक्टर के हेमाराम चौधरी का फोन नहीं उठाने वाली बात है, उसका भी समाधान हो गया है। मैंने खुद बाड़मेर कलेक्टर से फोन पर बात करके उन्हें उलाहना दिया है। कलेक्टर ने बताया कि जिस दिन हेमारामजी ने फोन किया वे ताऊ ते तूफान से पहले राहत बचाव की तैयारियों का जायजा लेने में व्यस्त थे। इसलिए फोन नहीं उठा पाए। बाड़मेर कलेक्टर ने बाद में रात 10 बजे हेमाराम चौधरी से फोन पर बात कर ली है।

खबरें और भी हैं...