ड्रग डिपार्टमेंट:डीपीसी की बैठक के 17 दिन बाद भी ड्रग कंट्रोलर के आदेश जारी नहीं हुए

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ड्रग डिपार्टमेंट में दाे पाॅवर सेंटर बनने से पहले ही राजनीति का पेच फंस गया है। डीपीसी के 17 दिन बाद भी आदेश जारी नहीं हुए हैं। विभाग में 27 नवम्बर काे डाक्टरों की डीपीसी के साथ ड्रग कंट्राेलर की भी डीपीसी हुई थी। फिलहाल फाइल चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीना के पास भेजी गई है। उधर, मंत्री काे डिपार्टमेंट में दाे ड्रग कंटाेलर हाे जाने से कई तरह की आशंकाएं सता रही हैं।

पहली कि ड्रग कंट्रोलर के आदेश हाेंगे ताे दाे पाॅवर सेंटर हाे जाएंगे। क्षेत्र के बंटवारे काे लेकर विवाद खड़ा हाे जाएगा। दूसरी वजह यह भी हाे सकती है कि मंत्री वर्तमान ड्रग कंट्राेलर राजाराम शर्मा के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहते हैं। शर्मा लंबे समय से ड्रग डिपार्टमेंट का काम देख रहे हैं। इनकी अफसरों और नेताओं से लाइजनिंग भी अच्छी है।

दरअसल , विभाग में औषधि नियंत्रक के दो पद स्वीकृति हैं, लेकिन कुछ अफसरों ने तीन साल से डीपीसी नहीं हाेने दी। अब डीपीसी हुई ताे ये ही अफसर आदेश नहीं हाेने दे रहे हैं। डिपार्टमेंट में तीन साल से एक ही ड्रग कंट्राेलर नियुक्त हैं। इस दाैरान अधिकांश समय राजाराम शर्मा के पास ही ड्रग डिपार्टमेंट का जिम्मा रहा। तीन साल बाद हुई डीसीपी में एडीसी अजय फाटक काे ड्रग कंट्रोलर पर पदोन्नति हुई है।

खबरें और भी हैं...