राजस्थान ने अपनाया दिल्ली का डाेरस्टेप मॉडल:ई-मित्र @ हाेम : 73 रु. में घर बैठे बनेंगे जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र

जयपुर11 दिन पहलेलेखक: अर्पित शर्मा
  • कॉपी लिंक
घर बैठे जन्म-मृत्यु से लेकल मैरिज सर्टिफिकेट और ई- मित्र से जुडे अन्य काम कराए जा सकेंगे। - Dainik Bhaskar
घर बैठे जन्म-मृत्यु से लेकल मैरिज सर्टिफिकेट और ई- मित्र से जुडे अन्य काम कराए जा सकेंगे।

अब ई- मित्र आपके घर पहुंचेगा। घर बैठे जन्म-मृत्यु से लेकल मैरिज सर्टिफिकेट और ई- मित्र से जुडे अन्य काम कराए जा सकेंगे। इसके लिए 73 रुपए शुल्क देना हाेगा। इसे लेकर सरकार प्रदेश में ई-मित्र एट हाेम (डाेर स्टेप डिलीवरी) सेवा शुरू करने वाली है।

पहले चरण में जयपुर और जोधपुर काे इसकी सौगात मिलेगी। प्रदेश में 85 हजार ई-मित्र केंद्र 500 से ज्यादा सेवाएं दे रहे हैं। इनमें 25 हजार शहरी और 60 हजार ई-मित्र गांवाें में हैं। ई मित्र के जरिए आधार, जनाधार से लेकर ट्रांजेक्शन, बैंकिंग, बर्थ, डेथ, मैरिज सर्टिफिकेट, बिल पेमेंट व अन्य कई काम हाेते हैं।

गाैरतलब है कि ई मित्र प्रोजेक्ट 2016 तक 73.43 कराेड़ का था, इसके बाद यह आत्मनिर्भर हाे गया है। 2016- 17 में जहां आरआईएसएल इंकम 4.53 कराेड़ थी, वह 2020- 21 में बढ़कर 12.15 कराेड़ रुपए हाे गई है। 2020- 21 में 8 कराेड़ से ज्यादा ट्रांजेक्शन और 3800 कराेड़ रुपए से ज्यादा के ट्रांजेक्शन हुए हैं।

फाेन पर मिलेगी सर्विस
दिल्ली की डाेरस्टेप सर्विस काे देख राजस्थान में यह योजना लॉन्च होगी। लाेगाें काे हेल्पलाइन नंबर पर काॅल करना हाेगा। फिर पास का ई-मित्र संचालक घर आएगा, जरूरी दस्तावेज अपलोड करेगा। अगले दिन कार्ड या संबंधित दस्तावेज तैयार कर घर देकर जाएगा। इसका 73 रु. चार्ज लगेगा

प्रदेश में ई-मित्र नेटवर्क अच्छा है। ई-मित्र की सुविधाएं घर पर लाेगाें काे मिलें, एेसी योजना पर काम कर रहे हैं। -संदेश नायक, कमिश्नर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग

खबरें और भी हैं...