पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भर्ती में फर्जीवाड़ा:आठ का गलत अनुभव के आधार पर हुआ चयन

जयपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चिकित्सा विभाग के लिए की गई लैब टेक्नीशियन भर्ती और सहायक रेडियोग्राफर भर्ती में फर्जीवाड़ा हुआ था। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की जांच कमेटी ने 8 चयनितों के अनुभव को गलत माना है। कमेटी ने यह रिपोर्ट चिकित्सा विभाग को सौंप दी है। कमेटी ने लैब टेक्नीशियन भर्ती के 3 और सहायक रेडियोग्राफर भर्ती के 5 अभ्यर्थियों के चयन के निरस्त की सिफारिश की है।

इन अभ्यर्थियों ने डिप्लोमा लेने से पहले की अवधि का अनुभव प्रमाण पत्र लगा नौकरी प्राप्त कर ली। जांच कमेटी ने डिप्लोमा से पहले के अनुभव को गलत माना है। कमेटी का कहना है कि चिकित्सा विभाग की टीम ने दस्तावेज सत्यापन का काम किया था। इसी टीम की लापरवाही के कारण गलत चयन हुआ है।

दैनिक भास्कर ने 28 मई के अंक में लैब टेक्नीशियन भर्ती में फर्जीवाड़ा : कई चयनित अभ्यर्थियों ने डिप्लोमा लेने से पहले ही ले लिया अनुभव शीर्षक से खबर प्रकाशित कर इस फर्जीवाड़े को उजागर किया था। इसके बाद चयन बोर्ड ने इस पूरे मामले की जांच के लिए एक कमेटी बनाई थी। चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरि प्रसाद शर्मा ने कहा कि कमेटी ने रिपोर्ट चिकित्सा विभाग को भिजवा दी है।

  • जांच कमेटी का कहना है कि कोई कहीं से भी डिप्लोमा लाए, लेकिन अगर राजस्थान पैरामेडिकल कौंसिल ने उसे रजिस्टर्ड कर दिया तो चयन बोर्ड उसको बाहर नहीं कर सकता। अगर कोई फर्जी है तो पैरामेडिकल कौंसिल का काम है उसको रजिस्टर्ड नहीं करे।
खबरें और भी हैं...