पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Empathy Lingered Heavily On Political Commanders; Virendhi's Strategy Fails In Front Of Raghu Sharma, Bhanwar Singh And Dia Kumari

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विधानसभा उपचुनाव:सियासी सेनापतियाें पर भारी पड़ी सहानुभूति; रघु शर्मा, भंवर सिंह और दीया कुमारी के सामने विराेधियों की रणनीति फेल

जयपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा। - Dainik Bhaskar
चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा।

राजस्थान में तीन विधानसभा सीटाें पर 17 अप्रैल काे हुए उपचुनाव के नतीजे रविवार काे आ गए। नतीजे चाैंकाने वाले नहीं रहे, लेकिन उपचुनाव की परीक्षा में कांग्रेस और भाजपा के कई सियासी सेनापति फेल ताे कई पास हाे गए। दिलचस्प यह है कि लादूलाल पितलिया प्रकरण से भाजपा काे फायदा हाेने के बजाय भारी नुकसान हुआ है। कांग्रेस और भाजपा ने किन-किन नेताओं को किन-किन सियासी रणबांकुरों की रणनीति फेल हुई है। पूरी रिपोर्ट पढ़िए ....

रघु शर्मा के सामने जाेगेश्वर की रणनीति फेल
सहाड़ा : कांग्रेस ने भीलवाड़ा के प्रभारी मंत्री और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा को सहाड़ा विधानसभा में उतार रखा था। रघु शर्मा के स्तर पर ही सहाड़ा के लिए पूरी चुनावी रणनीति तय हुई। रघु ने चुनावी जंग में अपने सारे अस्त्र शस्त्र निकाल दिए थे। खासकर लादूलाल पितलिया प्रकरण काे सलीके से हैंडल किया, जिसका कांग्रेस काे फायदा हुआ।

जबकि भाजपा ने रघु के सामने अपनी रणनीति तय करने के लिए मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग को उतारा था, जिनका ऑडियो खूब वायरल हुआ था। इससे भी भाजपा की किरकिरी हुई। गर्ग के अलावा भीलवाड़ा सांसद सुभाष बहेड़िया, चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी, विधायक विट्ठल शंकर को मैदान में उतारा था, लेकिन रघु के सामने सभी का चुनावी कौशल फेल हाे गया। इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी गायत्री देवी की बड़ी जीत हुई है।

भाटी के सामने चुनावी काैशल में मात खाए राठाैड़
सुजानगढ़ : कांग्रेस ने उच्च शिक्षा और प्रभारी मंत्री भंवर सिंह भाटी को सुजानगढ़ विधानसभा सीट की जिम्मेदारी दी गई थी। पहले दिन से ही भाटी इस सीट पर लगातार सक्रिय रहे। यह सीट भी कांग्रेस के लिए बेहद महत्वपूर्ण थी। बाद में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गाेविंद सिंह डाेटासरा ने भी यहां कैंप किया, जिससे कांग्रेस प्रत्याशी मनाेज मेघवाल की बड़ी जीत हुई है। जबकि भाजपा ने सुजानगढ़ को जीतने के लिए दिग्गजों की फौज मैदान में उतार रखी थी।

उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का यह गृह जिला है। राठौड़ के अलावा केंद्रीय मंत्री अर्जुन लाल मेघवाल, स्थानीय सांसद राहुल कस्वा भी लगे रहे, लेकिन यह सीट एक बार फिर कांग्रेस के खाते में चली गई। इस सीट पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने भी प्रचार किया, लेकिन उसका भी फायदा नहीं मिला।

दीया ने आंजना और भाया काे दी सियासी पटखनी
राजसमंद : राजसमंद में भाजपा ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया को लगाया हुआ था। कटारिया के अलावा सांसद दीया कुमारी, मदन दिलावर, वासुदेव देवनानी, विधायक सुरेंद्र राठौड़ को भाजपा प्रत्याशी को जिताने की कमान दी गई थी, लेकिन चेहरे को तौर पर राजसमंद में दीया कुमारी सबसे महत्वपूर्ण रही। क्योंकि राजसमंद में राजपूत वोट सबसे अधिक है।

कटारिया की ओर से महाराणा प्रताप काे तू तड़ाक किए जाने के बाद भी दीया ने भाजपा की सीट बचा ली। यहां से दीप्ति विजयी रही है। दीया के सामने कांग्रेस के तमाम दांव फेल हाे गए। कांग्रेस ने प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना, खान मंत्री प्रमोद जैन भाया को मैदान में उतारा था। प्रदेश भारी अजय माकन कई दिनाें तक कैंप किए, लेकिन उसका लाभ कांग्रेस काे जीत का अंतर कम करके मिला।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें