• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Entry Can Be Done In Rajasthan Without RTPCR Report, The Government Has Made It Mandatory To Finish The Report, 70 Samples Taken On The Very First Day

दैनिक भास्कर डिजीटल की खबर पर असर:राजस्थान में बिना RTPCR रिपोर्ट हो सकेगी एंट्री, सरकार ने खत्म की रिपोर्ट की अनिवार्यता, पहले ही दिन लिए गए 70 सैंपल

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य सरकार ने रविवार से बाहरी राज्यों से राजस्थान आने वाले लोगों के लिए कोरोना जांच रिपोर्ट (RTPCR) लाने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। अब प्रदेश में हवाई, ट्रेन या सड़क मार्ग से आने वाले पर्यटकों को आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाने की अनिवार्यता से राहत मिल जाएगी। दैनिक भास्कर ने दो दिन पहले ही रिपोर्ट को लेकर खबर प्रमुखता से चलाई थी। आंध्रप्रदेश, तमिलनाडू, कर्नाटक, तेलंगाना, चंडीगढ़, दिल्ली सहित 14 राज्यों में पहले से ही कोरोना टेस्ट रिपोर्ट लाना जरूरी नहीं था। दैनिक भास्कर ने जब इस अनिवार्यता का रियलिटी चैक किया, तो यह अनिवार्यता महज एक औपचारिकता ही दिखाई दी। ऐसे में भास्कर ने इसे प्रमुखता से प्रकाशित किया। सरकार ने अब इसकी अनिवार्यता को खत्म कर दिया।

वैक्सिनेशन नहीं तो होगी रैंडम जांच

सरकार द्वारा पर्यटन और लोगों की परेशानी को देखते हुए, इसकी अनिवार्यता को खत्म किया गया है। लेकिन वैक्सीन नहीं लगवाने वाले यात्रियों की रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर कोरोना की रैंडम जांच (आरटीपीसीआर/एंटीजन) की जाएगी। हालांकि जयपुर स्टेशन पर जहां रोजाना 200 से भी अधिक सैंपल लिए जाते हैं, वो रविवार को घटकर 70 ही रह गए थे। जयपुर स्टेशन से रोजाना लगभग 75 ट्रेनों का संचालन और करीब 35 हजार यात्रियों का आवागमन हो रहा है। तो वहीं एयरपोर्ट से औसतन 16 फ्लाइट्स का संचालन और करीब 3700 यात्रियों का आवागमन हो रहा है। विशेषज्ञों की मानें तो अगर स्थिति सामान्य रहती है, तो ट्रेनों और फ्लाइट्स में करीब 70 फीसदी यात्रीभार फिर लौट जाएगा।

एयरपोर्ट व स्टेशन पर हो वैक्सिनेशन

केंद्र और राजस्थान सरकार बिना वैक्सीन के प्रदेश में आ रहे यात्रियों के स्टेशन और एयरपोर्ट पर ही वैक्सीन लगा सकती है। वर्ष 2019 में जयपुर ट्रैफिक पुलिस ने बिना हेलमेट टू व्हीलर चलाने वाले लोगों का सिर्फ चलाना करने की बजाय, वहीं हेलमेट दिए जाने का अभियान शुरू किया था। इसी तरह यात्रियों को भी पेड वैक्सीन करवाने की अनिवार्यता लागू की जा सकती है। क्योंकि एयरपोर्ट और स्टेशनों से अभी मेडिकल विभाग ने टीम नहीं हटाई हैं।

खबरें और भी हैं...