पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेल रोको आंदोलन का असर:3 घंटे जगतपुरा फाटक पर जमे रहे आंदोलनकारी; जयपुर, अलवर, रेवाड़ी स्टेशनों पर रोकनी पड़ी 5 ट्रेनें, यात्री भूख-प्यास से होते रहे परेशान

जयपुर19 दिन पहले
जयपुर के जगतपुरा फाटक पर रेलवे ट्रैक पर उमड़ा आंदोलनकारियों का हुजूम। फोटो मनोज श्रेष्ठ
  • जगतपुरा में शाम 4 बजे के बाद खुले बाजार

केन्द्र के कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का रेल रोको आंदोलन का आज जयपुर-दिल्ली रेलवे ट्रैक पर बड़ा असर देखने को मिला। जयपुर के जगतपुरा स्टेशन के पास सैंकड़ों आंदोलनकारियों ने करीब 3 घंटे तक ट्रैक पर कब्जा जमाए रखा, जिसके कारण जयपुर से होकर गुजरने वाली 5 यात्री गाड़ियों को बीच स्टेशनों पर एक से लेकर 4 घंटे तक रोकनी पड़ी। आंदोलन को देखते हुए जयपुर के जगतपुरा फाटक के पास मुख्य बाजार भी शाम को आंदोलन खत्म होने के बाद खुला।

जगतपुरा रेलवे स्टेशन पर दिल्ली-पोरबंदर ट्रेन रोकी गई, जो करीब साढ़े 3 घंटे बाद रवाना हुई।
जगतपुरा रेलवे स्टेशन पर दिल्ली-पोरबंदर ट्रेन रोकी गई, जो करीब साढ़े 3 घंटे बाद रवाना हुई।

आंदोलन के कारण दिल्ली-पोरबंदर को जगतपुरा स्टेशन पर 3 घंटे, जम्मूतवी-बाड़मेर को रेवाड़ी स्टेशन पर एक घंटा, जैसलमेर-जम्मूतवी को राजगढ़ (अलवर) स्टेशन पर 3 घंटे 45 मिनट, जैसलमेर-काठगोदाम रानीखेत एक्सप्रेस 45 मिनट और जोधपुर-वाराणासी मरूधर एक्सप्रेस ट्रेन को लगभग 2 घंटे 20 मिनट तक जयपुर जंक्शन पर बीच में रोकना पड़ा।

चाय, नाश्ते के लिए परेशान रहे यात्री

जगतपुरा स्टेशन पर लगभग साढ़े तीन घंटे तक दिल्ली-पोरबंदर ट्रेन को रोका गया। इस दौरान स्टेशन पर यात्री परेशान रहे। इनमें अधिकांश यात्री गुजरात के महसाना, राजकोट जाने वाले थे। बांदीकुई से महसाना जा रही एक महिला यात्री गीता देवी ने बताया कि आंदोलन के कारण ट्रेन को बीच स्टेशन पर रोक तो दिया, लेकिन पानी-चाय की कोई व्यवस्था रेलवे ने नहीं की। ट्रेन लेट होने के कारण आगे जिस स्टेशन जाना है वहां पहुंचने में भी देरी होगी। इसी तरह अलवर से महसाना जा रहे एक अन्य यात्री महेश कुमार ने बताया कि ट्रेन में रेलवे की ओर से पीने के लिए पानी तक नहीं दिया। बच्चे-बूढ़े सब परेशान हो रहे है। ट्रेन में खाने-पीने के भी पर्याप्त इंतजाम नहीं है।

आंदोलन खत्म होने के बाद ट्रेक से वापस जाते आंदोलनकारी।
आंदोलन खत्म होने के बाद ट्रेक से वापस जाते आंदोलनकारी।

PM मोदी के विरोध में लगाए नारे

जयपुर के जगतपुरा स्टेशन के पास हुए आंदोलन की बात करें तो यहां लगभग 800 से एक हजार की संख्या में युवक दोपहर एक बजे ट्रैक पर आ जुटे। आंदोलनकारियों की भीड़ को देखते हुए मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस और रेलवे फोर्स के जवान ट्रैक पर तैनात हो गए और उन्होंने जगतपुरा फाटक से आगे आंदोलनकारियों को बढ़ने नहीं दिया। इसके बाद आंदोलनकारी ट्रैक पर ही धरना देकर बैठ गए और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

करीब 3 घंटे तक ट्रैक पर धरना देने के बाद आंदोलनकारियों ने प्रदर्शन खत्म किया और दिल्ली के किसान आंदोलन में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि दी। इससे पहले आंदोलनकारियों ने किसान नेता नरेश मीणा के नेतृत्व में जगतपुरा स्टेशन के सामने टीबा वाले हनुमान जी मंदिर में जनसभा की। यहां जनसभा के बाद आंदोलनकारी रैली निकालते हुए जगतपुरा फाटक की ओर बढ़े।

जयपुर के जगतपुरा का मुख्य बाजार आंदोलन के कारण बंद रहा। शाम करीब 4 बजे बाद व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान खोले।
जयपुर के जगतपुरा का मुख्य बाजार आंदोलन के कारण बंद रहा। शाम करीब 4 बजे बाद व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान खोले।
खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

और पढ़ें