• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Fire Was Found Under Control After 15 Hours, Spent Whole Night Outside With Children, Cracks In Houses, Water Tank Burnt

जयपुर की डायपर फैक्ट्री में 15 घंटे आग:पड़ोस के घर की दीवारों में आईं दरारें, आसपास के लोगों ने सड़क पर गुजारी रात

जयपुरएक महीने पहले

जयपुर के जयसिंहपुरा खोर में शुक्रवार देर रात डायपर फैक्ट्री में लगी आग पर 15 घंटे बाद काबू पाया जा सका। दहशत में आसपास के लोगों ने पूरी रात सड़क पर ही गुजारी। आग की वजह से पड़ोस के घर की दीवारों में दरारें आ गईं। छतों पर रखी पानी की टंकी जल गई। आग बुझाने के लिए 50 से ज्यादा फायर ब्रिगेड़ की गाड़ियों को लगाया गया था। प्रशासन ने आबादी क्षेत्र में चल रही अवैध फैक्ट्रियों को बंद करने के निर्देश दिए हैं।

डायपर फैक्ट्री में शुक्रवार रात करीब 10 बजे पटाखे के कारण आग लगी थी। शनिवार दोपहर एक बजे के बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग बुझने के बाद भी आसपास के लोगों में दहशत है। रात को आग बहुत तेजी से फैली। फैक्ट्री पूरी तरह बंद थी। लोगों ने धुआं निकलते देख प्रशासन को सूचना दी। खुद पड़ोस के लोग आग को बुझाने में जुट गए। पानी के टैंकर भी मंगवाए गए। पुलिस ने इलाका खाली कराया। फैक्ट्री के आसपास काफी संख्या में मकान बने हुए हैं। सभी को सुरक्षित निकालना पुलिस के लिए चुनौती थी।

फैक्ट्री में रखा माल जलकर हुआ राख।
फैक्ट्री में रखा माल जलकर हुआ राख।

चौकीदार हो गया बेहोश
फैक्ट्री का चौकीदार आग से बेहोश हो गया। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। फैक्ट्री में ताला लगा हुआ था। अंदर गैस सिलेंडर व काफी ज्वलनशील पदार्थ भी था। उसे लोगों ने बाहर निकाला। आमेर, घाटगेट, विश्वकर्मा से 50 से ज्यादा दमकल की गाड़ियां पहुंचीं।

आसपास घर की छत पर रखी पानी की टंकी जली।
आसपास घर की छत पर रखी पानी की टंकी जली।

बार-बार धधकती रही आग
जहां लगी ये आबादी क्षेत्र के क्षेत्र के बीच है। इसलिए पहुंचने में परेशानी हुई। आग भीषण होने के कारण कुछ समय तक फायब्रिगेड के कर्मचारी पास भी नहीं जा सके। डायपर बनाने में यूज होने वाली कॉटन भारी मात्रा में अंदर भरी हुई थीं। जिसके कारण आग बार-बार धधकती रही। एक बार आग कुछ देर के लिए बुझ भी गई थी, लेकिन कॉटन फिर जल उठी।

फैक्ट्री का सामान हुआ राख।
फैक्ट्री का सामान हुआ राख।