पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भाजपा में सियासी मंथन:कोर ग्रुप बैठक में राजे का नहीं पहुंचना रहा चर्चा का विषय; पूनिया, सिंह को देना पड़ा स्पष्टीकरण

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर भाजपा मुख्यालय में आयोजित कोर ग्रुप की पहली बैठक में मौजूद सदस्य। - Dainik Bhaskar
जयपुर भाजपा मुख्यालय में आयोजित कोर ग्रुप की पहली बैठक में मौजूद सदस्य।

बीजेपी के सभी खेमों के नेताओं को एक जाजम पर लाकर संगठन का काम आगे बढ़ाने के मकसद से बनाई कोर ग्रुप की पहली बैठक रविवार को बीजेपी मुख्यालय में हुई। इस पहली बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समेत अन्य दो सदस्य शामिल नहीं हुए। राजे के बैठक में शामिल नहीं होने पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया और प्रदेश भाजपा प्रभारी अरूण सिंह को मीडिया के समक्ष स्पष्टीकरण देना पड़ गया। दोनों ने ही राजे के नही आने के पीछे कारण उनकी पुत्रवधु की तबियत खराब होना बताया।

बैठक के बाद मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए पूनिया ने कहा कि राजे जी का नहीं आने का मतलब ये रही कि पार्टी में गुटबाजी है। उनकी पुत्रवधु की तबियत ठीक नहीं थी, जिसके कारण वे आज बैठक में उपस्थित नहीं हुई। इससे पहले बीजेपी प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने भी दिन में मीडिया से बातचीत में कहा था कि वसुंधरा राजे ने आज की बैठक में पारिवारिक कारणों से शामिल नहीं आने की बात कही थी। इसकी सूचना उन्होने पहले ही दे दी थी। भले ही पारिवारिक कारणों से राजे के बैठक में नहीं आना कारण बताया जा रहा हो, लेकिन इसके पीछे वजह कुछ और बताई जा रही है। कोर ग्रुप की पहली ही बैठक से राजे की गैर मौजूदगी को लेकर बीजेपी में सियासी चर्चाएं शुरु हो गई हैं।

राजनीतिक प्रेक्षकों के मुताबिक सबसे बड़ा सवाल बड़े नेताओं की धड़ेबंदी का है। ज्यादातर धड़ेबंदी वाले नेता कोर ग्रुप में शामिल हैं। कोर ग्रुप में राजे को शामिल करने के बाद पार्टी के ​अंदरूनी ​सियासी समीकरण बदल सकते हैं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद से माना जा रहा था कि राजे को राजस्थान के पार्टी संगठन से अलग कर दिया है, लेकिन कोर ग्रुप में शामिल करने से अब उनकी फिर से राजस्थान में सक्रियता बढ़ने को लेकर कयास तेज हो गए है।

चिंतन बैठक, नड्‌डा के दौरे और चुनावों की रणनीति तय करने पर हुई चर्चा

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए पूनिया ने कहा कि आज कोर ग्रुप की बैठक में मुख्य रूप से संगठन की मजूबती और उसको सोशल मीडिया के जरिए ग्राउण्ड स्तर तक विस्तार पर चर्चा की। साथ ही आगामी 90 नगरीय निकायों के चुनावों, प्रदेश में 4 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर क्या रणनीति बनानी है, इस पर विचार-विमर्श किया। उन्होने बताया कि फरवरी या मार्च में राष्ट्रीय अध्यक्ष का प्रदेश दौर प्रस्तावित है इसकी तैयारियों को लेकर भी आज यहां बातचीत हुई। साथ ही यह भी निर्णय किया अब से कोर ग्रुप की हर माह कम से कम एक बैठक बुलाई जाए। अगली बैठक फरवरी माह के अंतिम सप्ताह में बुलाना प्रस्तावित किया है। इसके अलावा पार्टी के सभी पदाधिकारियों से एक साथ चर्चा के लिए चिंतन बैठक भी बुलाने पर भी विचार किया गया।

सूत्रों का कहना है कि कोर ग्रुप में जिन पदाधिकारियों के मनमुटाव को दूर नहीं किया जा सका उसे इस चिंतन बैठक में दूर करने का प्रयास किया जाएगा। क्योंकि आगामी विधानसभा उपचुनाव में पार्टी की अंदरूनी गुटबाजी से नुकसान न हो इसको लेकर ये चिंतन बैठक बुलाने की योजना है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें