• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • First The Money Of The Firms Stopped ... Second The Firms Stopped The Zonal Plan ... And Now The Promotion Of The Officers Who Were Behind In Giving The Lease Will Stop

पट्‌टा अभियान...रुक-रुक-रुक:पहला-फर्मों का पैसा रुका...दूसरा- फर्मों ने जोनल प्लान रोके...और अब- पट्टे देने में पीछे रहे अधिकारियों का प्रमोशन रुकेगा

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: डूंगरसिंह राजपुरोहित
  • कॉपी लिंक
निकाय अफसरों ने कंसल्टेंसी फर्मों के भुगतान रोके तो उन्होंने सरकार के सबसे बड़े प्रशासन शहरों के संग अभियान की ही हवा निकाल दी और जोनल प्लान ही नहीं बनाए। - Dainik Bhaskar
निकाय अफसरों ने कंसल्टेंसी फर्मों के भुगतान रोके तो उन्होंने सरकार के सबसे बड़े प्रशासन शहरों के संग अभियान की ही हवा निकाल दी और जोनल प्लान ही नहीं बनाए।

बिना जोनल प्लान पट्टे जारी करने पर हाईकोर्ट की रोक के बाद अंदरखाने कई गड़बड़ियां सामने आ रही हैं। निकाय अफसरों ने कंसल्टेंसी फर्मों के भुगतान रोके तो उन्होंने सरकार के सबसे बड़े प्रशासन शहरों के संग अभियान की ही हवा निकाल दी और जोनल प्लान ही नहीं बनाए। करीब 10 करोड़ रु. अटकने पर फर्मों ने 190 शहरों के जोनल प्लान अटका दिए।

एक साल से यह लड़ाई चल रही थी, जिस पर ध्यान नहीं दिया गया। नतीजतन- सरकार को हाईकोर्ट का ये आदेश सुनना पड़ा। यहां तक कि स्टेट यूडीएच सलाहकार तक के सामने अफसर और संबंधित फर्में उलझ गईं तो उनको कड़ी हिदायत देनी पड़ी। नगर निगम जयपुर के दो अफसरों को तो यूडीएच मंत्री ने खुद लताड़ लगाते हुए कहा कि पट्टा रोकेंगे तो प्रमोशन भी रुकेगा। अब 1 लाख से अधिक आबादी के 27 शहरों का जोनल प्लान सबसे पहले बनाने का लक्ष्य है।

अभी 31 मार्च तक का ही अभियान फाइनल, कैसे देंगे 10 लाख पट्टे‌?

सरकार ने अभी तक 31 मार्च 2022 तक के लिए ही प्रशासन शहरों के संग अभियान को फाइनल किया है। ऐसे में अफसरों को दिए 10 लाख पट्टे बांटने के लक्ष्य पूरा करना कठिन हो गया है। स्टेट लेवल के अफसरों को आलाकमान ने निर्देश दिए हैं कि हर हाल में 15 दिसम्बर तक सभी शहरों के जोनल प्लान बनवाकर लागू करो। ताकि जून तक 10 लाख लोगों को पट्टे दिए जा सकें।

प्रमोशन रोकने का लिखित आदेश तो नहीं, लेकिन मौखिक चेतावनी

यूडीएच प्रमुख सचिव कु‌ंजीलाल मीणा और डीएलबी डायरेक्टर दीपक नंदी से जब यह पूछा गया कि पट्‌टे जारी करने के लक्ष्य में पीछे रहने वाले निकाय अफसरों का क्या प्रमोशन रोका जाएगा, तो उन्होंने कहा ऐसे आदेश जारी नहीं किए गए हैं। लेकिन अंदरखाने बताया जा रहा है कि आलाकमान से सभी अफसरों को साफ-साफ चेतावनी दी गई है कि यदि वे पट्टे में पीछे रहे तो वे प्रमोशन और परिलाभ में भी पीछे रहेंगे।

खबरें और भी हैं...