पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा का निर्देश:महारानी-महाराजा समेत 4 कॉलेजों की पांच सौ बीघा जमीन आरयू के नाम होगी

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शुक्रवार काे एडीएम प्रथम इकबाल खान ने संबंधित अधिकारियों काे 30 जून तक इस काम को पूरा करने के निर्देश दिए। - Dainik Bhaskar
शुक्रवार काे एडीएम प्रथम इकबाल खान ने संबंधित अधिकारियों काे 30 जून तक इस काम को पूरा करने के निर्देश दिए।

राजस्थान विश्वविद्यालय के अधिपत्य वाले राजस्थान, महारानी, कॉमर्स और महाराजा काॅलेज की भूमि सहित करीब 500 बीघा जमीन राजस्थान विश्वविद्यालय के नाम पर जल्द ही दर्ज कराई जाएगी। कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा के निर्देश पर शुक्रवार काे एडीएम प्रथम इकबाल खान ने संबंधित अधिकारियों काे 30 जून तक इस काम को पूरा करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर नेहरा ने बताया कि आरयू के मालिकाना हक की जमीनों का सर्वे कर उनका नामांतरकरण विश्वविद्यालय के हक में करने के निर्देश दिए गए हैं। यह जमीन राजस्व रिकाॅर्ड में वन विभाग अथवा जेडीए के नाम पर दर्ज हैं, लेकिन यह जमीनें आरयू के पजेशन में हैं।

एडीएम इकबाल खान ने वन विभाग, जेडीए, तहसीलदार सांगानेर और जयपुर, एसडीएम सांगानेर सहित संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। एडीएम इकबाल खान का कहना है कि राजस्थान विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के सेवानिवृत्त प्रोफेसर डाॅ. आरबी सिंह ने विश्वविद्यालय की जमीन के संबंध में आवेदन किया गया था।

रजिस्ट्रार केएम दुरिया और सलाहकार डाॅ. गिरवर सिंह ने विश्वविद्यालय का पक्ष रखा। वन विभाग और जेडीए के नाम राजस्व रिकाॅर्ड में अंकित जमीन के वेरिफिकेशन के निर्देश दिए।

फिलहाल, यूनिवर्सिटी के पास अभी 817 बीघा जमीन

आरयू के पास 817 बीघा 8 बिस्वा जमीन है। 323 बीघा 7 बिस्वा भूमि का नामांतरकरण आरयू के नाम हो चुका। 494 बीघा 1 बिस्वा अर्थात 123.5 हैक्टेयर भूमि का नामांतरकरण विश्वविद्यालय के नाम दर्ज नहीं है।

खबरें और भी हैं...