• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Five Star Hotel Jewel Thief Before Stealing Jewelery Worth 2 Crores In Clarks Amer Hotel, Theft Also Happened In Udaipur, Travels By Bus In Big Cities

गुजरात का फाइव स्टार चोर जयेश:देश की लग्जरी होटल में करता है चोरी, उदयपुर में चोरी के बाद जयपुर आया

जयपुर6 महीने पहले
जयपुर में चोरी से पहले जयेश ने जयपुर में पांच सितारा होटल से 15 लाख रुपए चुराए थे।

जयपुर के पांच सितारा होटल क्लार्क्स आमेर में 2 करोड़ की ज्वैलरी और केश चुराने वाले शातिर बदमाश की पहचान जयेश रावजी सेजपाल (47) के रुप में हुई है। गुजरात में जूनागढ़ का रहने वाला जयेश इन दिनों मुंबई में रह रहा है। वह पांच सितारा होटल में होने वाली बड़े परिवारों की शादियों को ही निशाना बनाता है।

जयेश के खिलाफ हैदराबाद, मुंबई, चंडीगढ़, उदयपुर, कानपुर, आगरा, चेन्नई सहित कई बड़े शहरों में पांच सितारा होटल में चोरी के केस दर्ज है। वह एक ही पैटर्न पर चोरी की 13 वारदातें कर चुका है। फर्राटेदार अंग्रेजी और दूसरी भाषा बोलने में माहिर जयेश होटल में फोन कर 20-25 कमरे एक साथ बुक करवाने के बहाने वीआईपी शादियों के लिए बुकिंग की जानकारी जुटा लेता है। इसके बाद उस शहर में पहुंचने के लिए ज्यादातर बस से सफर करता है।

जयपुर के होटल क्लार्क्स आमेर में सीसीटीवी में नजर आया था शातिर चोर जयेश।
जयपुर के होटल क्लार्क्स आमेर में सीसीटीवी में नजर आया था शातिर चोर जयेश।

मेहमानों के साथ ही होटल में एंट्री करता है
वह फाइव सितारा होटल में मेहमानों के आने का इंतजार करता है। उनके साथ ही एंट्री करता है। जयेश इतना शातिर है कि रिसेप्शन के आसपास खड़ा रहकर लगेज टैगिंग के वक्त मेहमानों पर नजर रखता है। कौन किस कमरे में रुकेगा, किसके पास क्या सामान है, कौन सा मेहमान अपना सामान को होटल कर्मी को नहीं सौंप रहा है, यह सब वह देखता है। फिर उसी मेहमान को टारगेट कर कमरा नंबर नोट कर लेता है।

जब मेहमान शादी समारोह में चले जाते है। तब जयेश होटल में कमरे वाले का नाम बताकर लॉक खुलवाता है। फिर वारदात कर भाग जाता है। वह उदयपुर और जयपुर से पहले जोधपुर में भी साल 2013 में वारदात कर चुका है। वह सबसे पहले 2006 में आगरा में गिरफ्तार हुआ था। अंतिम बार चंड़ीगढ़ में पकड़ा गया। जमानत पर छूटकर वापस चोरी करना शुरु कर दिया।

होटल में कमरे बुक करवाने के बहाने वीआईपी शादियों की जानकारी हासिल कर लेता है जयेश।
होटल में कमरे बुक करवाने के बहाने वीआईपी शादियों की जानकारी हासिल कर लेता है जयेश।

21 नवंबर को उदयपुर के होटल ट्राइडेंट में 15 लाख रुपए चुराए
जयपुर से पहले जयेश ने उदयपुर के होटल ट्राइडेंट में 21 नवंबर को वारदात की थी। वह दिल्ली के रहने वाले श्रेष्ठ कालरा के कमरे से 15 लाख रुपए चुराकर भाग निकला था। वहां भी वह सीसीटीवी फुटेज में आ गया। जयपुर और उदयपुर में वारदात के वक्त उसने एक ही कपड़े पहन रखे थे। श्रेष्ठ कालरा ने उदयपुर के अंबामाता थाने में केस दर्ज करवाया था। वह दोस्त की शादी में शामिल होने होटल ट्राइडेंट में आए थे। जहां जयेश ने श्रेष्ठ कालरा को टारगेट किया। उनके समारोह में जाने के बाद खुद को श्रेष्ठ कालरा बताकर रिसेप्शन पर फोन किया। फिर लॉक नहीं खुलने की बात कह कर मास्टर की से श्रेष्ठ कालरा का कमरा खुलवाया। वहां से रकम चुराकर भाग निकला।

जयपुर में एक दिन पहले पहुंचकर बनीपार्क क्षेत्र में होटल में ठहरा
जयपुर के होटल क्लार्क्स आमेर में सीसीटीवी फुटेज में हुलिया सामने आने के बाद पुलिस ने प्रदेश के अन्य जिलों व बाहरी राज्यों की पुलिस से संपर्क किया। तब उसकी पहचान हो गई। पुलिस कल तक जयेश को गिरफ्तार कर सकती है। जयेश ने जयपुर में वारदात से पहले उदयपुर के पांच सितारा ट्राइडेंट होटल में भी वारदात की थी। प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि होटल क्लार्क्स आमेर में वारदात के लिए जयेश 25 नवंबर को जयपुर पहुंचा था। यहां बनीपार्क इलाके में एक होटल में ठहरा।

ऑटोरिक्शा से दो बार होटल पहुंचा था जयेश
जयेश सिंधी कैंप बस स्टैंड से एक ऑटोरिक्शा लेकर होटल क्लार्क्स आमेर पहुंचा था। उसने छत्तीसगढ़ के कारोबारी राजीव बोथरा की बेटी की शादी में आए मेहमानों के साथ होटल में प्रवेश किया। उनके रिश्तेदार राहुल बंथिया को टारगेट किया। सुबह करीब तीन-चार घंटे होटल में ठहरकर वापस अपने होटल चला गया। इसके बाद शाम को जयेश दोबारा होटल क्लार्क्स आमेर पहुंचा। वहां मेहमानों के महिला संगीत समारोह में जाने के बाद राहुल बंथिया के कमरे का लॉक खुलवाया और तिजोरी में रखे जेवर लेकर भाग निकला।

खबरें और भी हैं...