एग्जाम एनालिसिस:असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती परीक्षा में पहली बार एक तिहाई सवाल पूछे गए आर्थिक समीक्षा से

जयपुर9 महीने पहलेलेखक: देवपालिक गुप्ता
  • कॉपी लिंक
20 अंक पाने वाले रहेंगे दौड़ में, अधिकतम स्कोर 30-35 के बीच। - Dainik Bhaskar
20 अंक पाने वाले रहेंगे दौड़ में, अधिकतम स्कोर 30-35 के बीच।

आरपीएससी द्वारा आयोजित असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती परीक्षा के लिए पेपर थर्ड- सामान्य अध्ययन बुधवार को समाप्त हो गया। इस पेपर में 50 अंकों के 100 सवाल पूछे गए। आरपीएससी परीक्षाओं के विशेषज्ञ अश्विनी मेहरा बताते हैं कि इस बार का पेपर औसत से थोड़ा अधिक मुश्किल था।

इस परीक्षा में 2015 तक के फैक्ट व डेटा से जुड़े सवाल पूछे गए जिन्हें सामान्य तौर पर छात्र याद नहीं रख पाते हैं। आम तौर पर छात्र इस पेपर में औसतन 25 से अधिक अंक स्कोर करते हैं लेकिन इस बार छात्रों का औसत स्कोर लगभग 20 अंक है।

20 अंक पाने वाले छात्र इस परीक्षा की दौड़ में बने रहेंगे। अधिकतम स्कोर 30-35 के बीच रह सकता है। हालांकि पिछली परीक्षाओं में 18 अंक पाने वाले कई छात्र थे जो पेपर-1 व 2 यानी अपने विषय में बेहतर अंक लाकर सफल हुए। क्योंकि इस परीक्षा में सभी चरणों (लिखित व इंटरव्यू) के अंकों के आधार पर चयन होता है।

  • पेपर में वर्तमान सरकार की योजनाओं पर भी ज्यादा फोकस किया गया था। जन सूचना पोर्टल, राजस्थान संपर्क आदि पर सवाल थे। सभी सवालों को डेप्थ में पूछा गया था इसलिए इस पेपर में वही बेहतर कर पाए होंगे जो राजस्थान स्पेसिफिक परीक्षाओं की रेग्युलर तैयारी कर रहे हैं। दूसरे राज्य के छात्रों को दिक्कतें आई होंगी। - संतोष बिश्नोई, एग्जाम एक्सपर्ट

वित्त वर्ष 2015-16 तक के सवाल भी पूछे गए

यह पहली बार है जब राजस्थान सहायक आचार्य भर्ती परीक्षा में आर्थिक समीक्षा से 28 सवाल पूछे गए। सभी प्रश्न पिछले सालों की तुलना में कठिन थे। वर्तमान योजनाओं के साथ-साथ आर्थिक समीक्षा से वित्त वर्ष 2015-16 से लेकर 2018-19 तक के सवाल पूछे गए।

राजस्थान की पॉलिटी से 17, राजस्थान के इतिहास कला संस्कृति से 20 प्रश्न, राजस्थान के भूगोल से 20 सवाल और राजस्थान से संबंधित सामान्य ज्ञान से 15 प्रश्न पूछे गए। जनवरी में ही पेपर सेट होने के कारण नई आर्थिक समीक्षा से प्रश्न नहीं पूछे गए।

अभी संबंधित विषय के दो पेपर व इंटरव्यू बाकी

अब बाकी की दो परीक्षाएं पेपर-1 व पेपर-2 उम्मीदवारों के अपने विषय से संबंधित होंगी। उदाहरण के तौर पर यदि किसी उम्मीदवार ने भूगोल के प्रोफेसर के लिए आवेदन किया है तो उसे थर्ड पेपर के अलावा भूगोल विषय के दो पेपर देने होंगे।

ये दोनों पेपर्स 75-75 अंकों के होंगे। लिखित परीक्षा में चयनित उम्मीदवारों को इंटरव्यू देना होगा। इंटरव्यू 24 अंकों का होगा। उम्मीदवारों का फाइनल सिलेक्शन लिखित परीक्षा व इंटरव्यू के अंकों के आधार पर होगा। यानि अंतिम चयन 224 अंकों में से प्राप्त अंकों के आधार पर होगा।

आगे के दो पेपर्स में छात्र हो सकते हैं कम

कुल 49 हजार 374 उम्मीदवारों ने जीएस की परीक्षा दी। जबकि एक लाख से अधिक परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा के डिफिकल्टी लेवल को देखते हुए एक्सपर्ट मानते हैं कि छात्रों की संख्या आगे भी कम हो सकती है। परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों ने बताया कि राजस्थान से संबंधित प्रश्न इतनी डेप्थ में और फैक्ट्स इतने पुराने पूछे जाएंगे, यह उम्मीद नहीं थी। आन्सर की आने के बाद वे देखेंगे कि इस परीक्षा में बेहतर स्कोर कर पा रहे हैं या नहीं। इसके बाद ही अपने विषय की दोनों परीक्षाओं में वे शामिल होंगे।

खबरें और भी हैं...