7 बच्चियों को मिला नया जीवन:राज्य में पहली बार एक दिन में किसी हॉस्पिटल में इतने बच्चों का एक साथ हुआ कॉकलियर इम्प्लान्ट

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
काॅकलियर इम्प्लान्ट के बाद वार्ड में भर्ती बच्चियां। - Dainik Bhaskar
काॅकलियर इम्प्लान्ट के बाद वार्ड में भर्ती बच्चियां।

जयपुर के राजकीय रुकमणी देबी बेनीप्रसाद जयपुरिया हॉस्पिटल में आज एक साथ 7 छोटी बच्चियों का काॅकलियर इम्प्लान्ट किया गया। एक दिन में एक साथ इतने बच्चों का ऑपरेशन करके काॅकलियर इम्प्लान्ट करने का यह प्रदेश का पहला मामला है। इस मौके पर हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. सुनीत सिंह राणावत ने ऑपरेशन करने वाली पूरी टीम को बधाई दी है।

सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. मोहनीश ग्रोवर की टीम ने आज यह सभी ऑपरेशन करीब 8 घंटे में किए। डॉक्टर ग्रोवर बताया कि देश में हर एक हजार में से 3 या 4 बच्चों में यह बीमारी होती है। इस बीमारी में बच्चों में बचपन से ही सुनने की क्षमता नहीं विकसित नहीं होती। इस कारण बच्चे सुनने के साथ ही वह बोल भी नहीं पाते। ऐसी स्थिति में बच्चों के काॅकलियर इम्प्लान्ट करके उनमें सुनने-बोलने की क्षमता को विकसित किया जाता है। डॉक्टर ने बताया कि वर्तमान में राजस्थान में काॅकलियर इम्प्लान्ट सवाई मानसिंह हॉस्पिटल के अलावा बीकानेर, जोधपुर, अजमेर, कोटा और उदयपुर के मेडिकल कॉलेजों में होता है। जयपुरिया प्रदेश का पहला डिस्टिक हॉस्पिटल के जहां यह ऑपरेशन होता है।

डॉक्टर्स की टीम जिसने हॉस्पिटल में इम्प्लान्ट किया।
डॉक्टर्स की टीम जिसने हॉस्पिटल में इम्प्लान्ट किया।

4-5 लाख रुपए लगते है इम्प्लांट करवाने में
जयपुरिया हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. सुनीत सिंह राणावत ने बताया कि आज काॅकलियर इम्प्लान्ट के 7 केस किए गए, जो राजस्थान के इतिहास में एक दिन में किए गए सबसे ज्यादा केस हैं। उन्होंने बताया कि जिन सात बच्चियों के यह इम्प्लांट किए गए उनकी उम्र 3 से 5 साल के बीच की है। उन्होंने बताया कि वैसे तो यह इम्प्लांट सरकारी हॉस्पिटल में करवाने पर 4-5 लाख रुपए का खर्चा आता है, लेकिन इन सभी बच्चों का इलाज मुख्यमंत्री सहायता कोष के जरिए मुफ्त करवाया गया है। उन्होंने बताया कि आज ईएनटी विभाग की टीम में डॉ. मोहनीष ग्रोवर के साथ डॉ. गौरव सिंघल, डॉ. राघव मेहता, डॉ. मुकेश डागुर, डॉ. रश्मि जैन, डॉ. सुल्तान सिंह, डॉ. सुरेश और डॉ. योगेंद्र के अलावा एनेस्थिसिया से जुड़ी डॉक्टर्स की टीम भी थी।

खबरें और भी हैं...