• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Former CM Of Rajasthan Accuses Gehlot Government Of Negligence And Disorder, Said Government Should Remove Political Glasses To Develop Dravyavati River Front

द्रव्यवती रिवर फ्रंट की बदहाली पर फूटा वसुंधरा का दर्द:पूर्व CM ने गहलोत सरकार पर लगाए लापरवाही और अव्यवस्था के आरोप, कहा-राजनीतिक चश्मा उतारे सरकार

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
द्रव्यवती रिवर फ्रंट की बदहाली पर पूर्व सीएम का फूटा दर्द - Dainik Bhaskar
द्रव्यवती रिवर फ्रंट की बदहाली पर पूर्व सीएम का फूटा दर्द

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर जयपुर में द्रव्यवती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट को राजनीतिक चश्मे से देखने, लापरवाही बरतने और मिस मैनेजमेंट के आरोप लगाए हैं। वसुंधरा राजे ने कहा है कि द्रव्यवती रिवर फ्रंट के रूप में एक नए, खूबसूरत और स्वच्छ जयपुर की छवि निखर कर हम सभी के सामने आई थी। लेकिन राज्य सरकार की संवेदनहीनता और लापरवाही के कारण यह प्रोजेक्ट अब अव्यवस्था का शिकार हो गया है। वसुंधरा राजे ने द्रव्यवती रिवर फ्रंट को लेकर तीन ट्वीट किए हैं।

गहलोत सरकार पर लापरवाही के आरोप
गहलोत सरकार पर लापरवाही के आरोप

सरकार की लापरवाही और संवेदनहीनता से प्रोजेक्ट अब अव्यवस्था का शिकार

वसुंधरा राजे ने अपने ट्वीट में लिखा है कि द्रव्यवती रिवर फ्रंट ना सिर्फ उनके नेतृत्व वाली पिछली बीजेपी सरकार का एक ड्रीम प्रोजेक्ट था, बल्कि यह जयपुर के लाखों लोगों की उम्मीद भी थी। जिसके लिए हमने संकल्प लेकर 1400 करोड़ रुपए की लागत से एक गंदे नाले को सुन्दर और साफ नदी के रूप में बदलने की दिशा में काम किया। राजे ने लिखा है कि इसका काम पूरा होते ही करीब 47 किलोमीटर लम्बे द्रव्यवती रिवर फ्रंट के रूप में एक नए, खूबसूरत और साफ सुथरे जयपुर की छवि निखर कर सबके सामने आई थी। लेकिन राज्य सरकार की संवेदनहीनता और लापरवाही के चलते द्रव्यवती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट भी अब अव्यवस्था का शिकार हो गया है।

राजनीतिक चश्मा उतारकर देखने की कही बात
राजनीतिक चश्मा उतारकर देखने की कही बात

राजनीतिक चश्मा उतारकर देखेगी सरकार तो जयपुर की सुन्दरता बढ़ेगी

पूर्व मुख्यमंत्री ने गहलोत सरकार से आग्रह भी किया है कि इस रिवर फ्रंट को राजनीतिक चश्मे से देखने की बजाय उसे जनता के हित के नज़रिए से देखना चाहिए। ताकि ये प्रोजेक्ट पर्यटन स्थल के तौर पर देश और दुनिया में एक उदाहरण बन सके। इससे जयपुर शहर की सुन्दरता में भी चार चांद लग सकेंगे।

अमानीशाह नाले से द्रव्यवती नदी में पिछले बीजेपी शासनकाल में बदला था प्रोजेक्ट
अमानीशाह नाले से द्रव्यवती नदी में पिछले बीजेपी शासनकाल में बदला था प्रोजेक्ट

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने 2 अक्टूबर 2018 को किया था उद्घाटन

पिछली बीजेपी सरकार के वक्त 2 अक्टूबर 2018 को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने द्रव्यवती रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट का उद्घाटन मानसरोवर के शिप्रा पथ पर किया था। इससे पहले लम्बे अरसे से यह नदी बिगड़ी शहरी व्यवस्था और नालों का पानी मिलने से बड़े अमानीशाह नाले में बदल चुकी थी। उत्तर दिशा में नाहरगढ़ की पहाड़ियों से शुरू होकर दक्षिण दिशा में 47 किलो मीटर तक बहने वाली इस नदी के विकास कार्यों का उद्घाटन कर इसे नया रूप दिया गया था। यहां रिवर फ्रंट के किनारे पर वॉक वे, लैण्ड स्केप पार्क जैसी कई सुविधाएं डवलप की गई थीं।

रिवर फ्रंट के आस पास काफी डवलपमेंट हुआ
रिवर फ्रंट के आस पास काफी डवलपमेंट हुआ

सीकर रोड पर पानी पेच पर 3.68 हेक्टेयर में बर्ड पार्क, शिप्रापथ मानसरोवर में 2.95 हेक्टेयर में सुन्दर गार्डन, बम्बाला पुलिया सांगानेर इलाके के पास 2.98 हेक्टेयर में बॉटेनिकल पार्क डवलप किया गया। 100 साल से ज्यादा पुराने वाटर पम्प हाउस को भी म्युजियम में बदलकर कैफे बनाया गया।

लैंड स्केप पार्क से बढ़ी थी शहर की सुन्दरता
लैंड स्केप पार्क से बढ़ी थी शहर की सुन्दरता

नदी किनारे हजारों पेड़-पौधे लगाकर सजाया था लैंडस्पेक पार्क

नदी के दोनों ओर लैंडस्केप गार्डन बनाया गया । नदी किनारे करीब 17 हज़ार पेड़-पौधे, सजावटी पौधे और झाड़ियां,बेलें लगाई गईं। साथ ही सीवरेज के पानी को इस नदी में डालने और सब्जियों के लिए इसे इस्तेमाल करने पर भी रोक लगाई गई थी।

खबरें और भी हैं...