• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gang Rape Case With 11 Year Old Girl In Jaipur In 6th Class, Neighbor And Friend Kidnapped In Jhalana Forest, Caught A Rapist While Going To School For Examination

जयपुर में 6th क्लास की बच्ची से गैंगरेप:जंगल में अगवा कर ले गया पड़ोसी और दोस्त; एक आरोपी को स्कूल में परीक्षा देने जाते वक्त पकड़ा

जयपुर3 महीने पहले
11 साल की एक बालिका से सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में मालपुरा गेट थाने में गिरफ्तार आरोपी राजकुमार नागर और आशु सिंहल।

जयपुर में छठी क्लास में पढ़ने वाली 11 वर्षीय बालिका से दिनदहाड़े सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। वारदात में शामिल दो आरोपियों को मंगलवार को मालपुरा गेट थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनको आज कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। वारदात के बाद फरार हुए एक आरोपी को पुलिस ने तब पकड़ा, जब वह परीक्षा देने स्कूल जा रहा था।

डीसीपी (साउथ) हरेंद्र महावर ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आशु कुमार सिंघल (19) सवाईमाधोपुर जिले में बौंली का रहने वाला है। जयपुर में मालपुरा गेट कृषि नगर में रहता है। दूसरा आरोपी राजकुमार नागर (22) बूंदी जिले में नैंनवा क्षेत्र के पांडूला का रहने वाला है। वह भी मालपुरा गेट इलाके में किराए से रहता है। ये दोनों ही आरोपी एक फैक्ट्री में काम करते हैं। दोनों में गहरी दोस्ती है। इनमें राजकुमार शादीशुदा है। आशु सिंहल एक ओपन यूनिवर्सिटी से 10वीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा है।

सहेली के साथ जाते वक्त बहला कर झालाना के जंगल में ले गए
पुलिस के मुताबिक 11 वर्षीय बच्ची के पिता ने 18 अक्टूबर को मालपुरा गेट थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था। इसमें बताया कि 16 अक्टूबर को उनकी बेटी घर से कुछ दूर अपनी सहेली के घर जा रही थी। तभी राजकुमार और आशु सिंहल ने उसे अकेला देखा। दोनों ने बच्ची को बहला फुसलाकर अपने साथ बाइक पर बैठा लिया। इसके बाद जगतपुरा होते हुए यूनिवर्सिटी झालाना के जंगलों में ले गए। वहां सुनसान पाकर बालिका के साथ दोनों युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया।

घर पहुंचने पर मां को बताई आपबीती तो सहम गए परिजन
इसके बाद बच्ची को डरा धमकाकर छोड़कर भाग निकले। वारदात के बाद बच्ची घर पहुंची। तब उसकी हालत देखकर माता-पिता को पता चला। तब वे सहम गए। वे बच्ची को लेकर थाने पहुंचे और केस दर्ज करवाया। इसके बाद एसीपी नेमीचंद खारिया, मालपुरा गेट थाना प्रभारी रायसल सिंह, सब इंस्पेक्टर अनिल शर्मा के नेतृत्व में गठित टीम ने बच्ची के बयान लेकर दोनों आरोपियों को नामजद किया। इसके बाद पहले राजकुमार को पकड़ा। उससे पूछताछ में आशु कुमार सिंहल का पता चला। तब उसे भी 10वीं क्लास की परीक्षा देने जाते वक्त रास्ते में पकड़ लिया।

खबरें और भी हैं...