• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot Broke Silence After 36 Hours, Wrote On Phone Tapping On August 14, He Had Spoken In The Assembly, This Is A Quarrel Between BJP

फोन टैपिंग पर गहलोत ने 36 घंटे बाद चुप्पी तोड़ी:CM ने कहा- ऐसा लगता है फोन टैपिंग बीजेपी का आपसी झगड़ा, वर्चस्व की लड़ाई है; सदन को बेवजह डिस्टर्ब करने की कोशिश

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फोन टैपिंग विवाद पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुप्पी तोड़ी लेकिन सीधे जवाब देने की जगह सात माह पुराना बयान सोशल मीडिया पर पोस्ट किया (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
फोन टैपिंग विवाद पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुप्पी तोड़ी लेकिन सीधे जवाब देने की जगह सात माह पुराना बयान सोशल मीडिया पर पोस्ट किया (फाइल फोटो)
  • सीएम गहलोत ने कहा- फोन टैपिंग मुद्दे पर मैं 14 अगस्त को विधानसभा में पूरी बात रख चुका हूं

प्रदेश में फोन टैपिंग पर शुरू हुए बवाल के बाद मंगलवार को 36 घंटे बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुप्पी तोड़ी है। गहलोत ने सोशल मीडिया पर फोन टैपिंग विवाद पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने लिखा- फोन टैपिंग को लेकर 14 अगस्त को विधानसभा में पूरी बात रख चुका हूं। ऐसा लगता है कि यह बीजेपी का आपसी झगड़ा है। वर्चस्व की लड़ाई है। इसमें बेवजह मुद्दे बनाए जा रहे हैं। अनावश्यक रूप से हाउस को डिस्टर्ब किए जाने की कोशिश है। गहलोत ने सोशल मीडिया पर 14 अगस्त को विधानसभा में फोन टैपिंग को लेकर दिए गए बयान की पूरी ट्रांस्क्रिप्ट भी डाली है।

भाजपा के हंगामे के बाद गहलोत ने तोड़ी चुप्पी
मंगलवार को गहलोत ने फोन टैपिंग विवाद पर चुप्पी तब तोड़ी जब विधानसभा में दिन में भाजपा विधायक वेल में आकर नारेबाजी और हंगामा कर रहे थे। भाजपा ने दिल्ली से लेकर जयपुर तक फोन टैपिंग को मुद्दा बना लिया है। इस पर अब कांगेस-भाजपा आमने सामने आ गए हैं। कल भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने फोन टैपिंग की सीबीआई जांच की मांग करते हुए गहलोत से इस्तीफा देने की मांग की थी। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत सहित कई भाजपा नेताओं ने भी गहलोत को निशाने पर लिया था।

तब केंद्रीय मंत्री शेखावत पर साधा था निशाना
गहलोत ने पूरे बयान के आधार पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधा है। गहलोत ने 14 अगस्त को विधानसभा का बयान भी जारी किया है। जिसमें कहा था- गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम तो ऑडियो टेप में आ ही गया और टेप कैसे हो गई। अरे आप तो गृह मंत्री रहे हैं, मुझसे पूछ रहे हो? लीगल होता है, इलीगल होता है। वो आप मुझसे पूछ रहे हो?

गहलोत ने कहा था- राजस्थान में गैरकानूनी तरीके से फोन टैप की पंरपरा नहीं रही
गहलोत ने 17 और 20 अगस्त को मीडिया से बातचीत की थी। उन्होंने इन खबरों को भी शेयर किया है। इसमें कहा था- राजस्थान में गैरकानूनी तरीके से किसी के फोन सर्विलांस पर लेने और टैप करने की परंपरा नहीं रही है। चीफ सेक्रेटरी हों चाहे होम सेक्रेटरी हों, उनको नौकरी करनी होती है, वो गैरकानूनी काम कभी नहीं कर सकते हैं। जो कुछ भी यहां पर सर्विलांस होती है, जिन लोगों के लिए होनी चाहिए तो वो कायदे से होती है।

तो राजनीति छोड़ दूंगा
गहलोत ने 17 और 20 अगस्त 2020 कहा था- कुछ लोगों ने कहा है कि आपके घर पर टेप बन गई, आपके ऑफिस में टेप बन गई। उन्होंने रिलीज़ की है। मैंने कहा तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा अगर प्रूव कर दें तो।