पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot Said Now Farmers Are In The Mood To Teach A Lesson To BJP, Rathod Said CM's Maths Is Weak, Victory Is Visible Even In Defeat

वार-पलटवार:गहलोत ने कहा- अब किसान भाजपा को सबक सिखाने के मूड में, राठौड़ बोले- सीएम का गणित कमजोर, हार में भी जीत नजर आ रही

जयपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश के 6 जिलों के पंचायत चुनाव नतीजों पर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने हैं। - Dainik Bhaskar
प्रदेश के 6 जिलों के पंचायत चुनाव नतीजों पर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने हैं।

पंचायती राज चुनावों के नतीजों और यूपी में किसान रैली को लेकर गहलोत ने भाजपा पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर की किसान महापंचायत में उमड़ी किसानों की भारी भीड़ दिखाती है कि उत्तर प्रदेश और देश का किसान भाजपा से त्रस्त हो चुका है। गहलोत बोले कि राजस्थान में कल आए पंचायतीराज के नतीजों से साफ हो गया है कि किसानों में भाजपा के खिलाफ भारी नाराजगी है और वो भाजपा को सबक सिखाने के मूड में हैं।

पहले आय दोगुनी का झूठा वादा, अब कृषि कानून थोपे
उन्होंने कहा कि पहले 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का झूठा वादा एवं अब किसानों को विश्वास में लिए बिना किसान विरोधी कृषि कानून थोपकर खेती को बड़े व्यापारियों के हवाले करने के प्रयास को किसान पूरी तरह पहचान चुके हैं। एनडीए सरकार की किसानों के प्रति सोच जगजाहिर है। समय आने पर देश के किसान भाजपा को सबक सिखाने में पीछे नहीं रहेंगे।

वहीं उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में डेढ़ वर्ष से लगातार अलग-अलग चरणों में चल रहे पंचायतीराज चुनावों के नतीजों के आंकड़े को तो झुठलाया नहीं जा सकता। अब तक भाजपा के 14 जिला प्रमुख बने हैं। पहले चरण में भाजपा के 443 और दूसरे चरण में 90 जिला परिषद सदस्य यानी कुल 533 जिला परिषद सदस्यों ने विजय हासिल की है। वहीं कांग्रेस के मात्र 5 जिला प्रमुख व पहले चरण में 352 व दूसरे चरण में 99 जिला परिषद सदस्य यानी कुल 451 सदस्य जीते हैं।

कांग्रेस का छद्म अभियान ज्यादा टिकने वाला नहीं
उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि शायद मुख्यमंत्री की गणित कमजोर है, इसलिए कांग्रेस की हार में भी उनको जीत नजर आती है। सरकारी तंत्र का गलत इस्तेमाल कर दूसरे चरण में भाजपा से मामूली बढ़त व कुल हुए मतदान में मात्र 35.2 प्रतिश मत लेकर कांग्रेस का यह छद्म अभियान ज्यादा टिकने वाला नहीं है।

खबरें और भी हैं...