• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot Said The BJP RSS People Had Met The British, They Spoke Their Own Language, Did Any Of Their Leaders Go To Jail In The Freedom Struggle?

CM का BJP और RSS पर हमला:गहलोत बोले- BJP और RSS वाले अंग्रेजों से मिले हुए थे, उन्हीं की भाषा बोलते थे; आज मोदी का मुकाबला कर रहे हैं अकेले राहुल गांधी

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
NSUI स्थापना दिवस समारोह को सीएम अशोक गहलोत ने संबोधित किया। - Dainik Bhaskar
NSUI स्थापना दिवस समारोह को सीएम अशोक गहलोत ने संबोधित किया।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI के स्थापना दिवस समारोह पर RSS और BJP पर निशाना साधा है। गहलोत ने कहा- जो लोग आज सत्ता में बैठे हैं, इन्होंने देश की आजादी के लिए अंगुली तक नहीं कटवाई। ये लोग अंग्रेजों से मिले हुए नहीं थे क्या? अंग्रेजों की भाषा बोलते थे। इनका एक भी नेता आजादी के लिए जेल गया क्या? आज ये कहते हैं कि कांग्रेस ने 70 साल में क्या किया। आज सत्ता में बैठे लोगों पर लोकतंत्र की कृपा है। देश को लोकतंत्र किसने दिया। कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र कायम रखा, इसलिए आज ये लोग सत्ता में बैठे हैं।​​​गहलोत ने कहा, आज मोदी का मुकाबला अकेले राहुल गांधी कर रहे हैं। कई दल थे, सब गायब हो गए। कांग्रेस का जब रुतबा था तो उन अन्य दलों का भी रुतबा था। आज तो सरकारें गिराने का षड्यंत्र हो रहा है। ज्यूडिशरी, सीबीआई, इनकम टैक्स, ईडी पर दबाव पड़ रहा है। देश किस दिशा में जाएगा इसकी चिंता एनएसयूआई को होनी चाहिए क्योंकि आगे आपको ही देश संभालना है।

हिंदुत्व का माहौल बनने से हम घबरा गए कि वोट नहीं मिलेंगे, घबराना नहीं है

गहलोत ने कहा, माहौल हिंदुत्व का बन गया है तो हम भी घबरा गए हैं कि लोग वोट नहीं देंगे। आपको घबराने की जरूरत नहीं है। NSUI के कार्यकर्ता 200-300 लोगों का कैंप करें। साल में एक अधिवेशन कीजिए। हम बैठकर आपको सुनेंगे। सब पुरानी परंपराएं खत्म हो गई है। आपने कुर्सियां नहीं लगाई, अच्छा किया।

कम्युनिस्टों के कागज पर साइन करके मैं कांग्रेसी बना

गहलोत ने कहा, मैं कांग्रेस से कैसे जुड़ा इसका किस्सा सुनाता हूं। इंदिरा गांधी ने रातों-रात 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया था। राजा महाराजाओं के प्रीविपर्स खत्म कर दिए थे। उस समय NSUI नहीं था। छात्र कांग्रेस थी। छात्रों के मामले में हम धीमे चलते हैं, यूनिवर्सिटी में सीपीआई, सीपीएम तेज चलते हैं। उस वक्त सीपीआई सीपीएम ने इंदिरा गांधी को धन्यवाद देने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया। यूनिवर्सिटी में हस्ताक्षर करवाए जा रहे थे, तो मैंने भी पूरा कागज पढ़ा। प्रभावित हुआ और उस पर साइन कर दिए। उस जमाने में मैंने साइन किए तबसे मैं कांग्रेसी ​हो गया, साइन करवाने वाले कम्युनिस्ट थे।

NSUI में रहते मैंने पूरा राजस्थान छान मारा था, उस वक्त झालावाड़ में धूल उड़ती थी

गहलोत ने कहा-राजस्थान में भी अभिषेक चौधरी ने कमाल कर दिया। मैं मिला नहीं लेकिन नेताओं से सुना है, नए-नए प्रयोग करता है। मैंने भी NSUI प्रदेशाध्यक्ष रहते राजस्थान को छान मारा था। झालावाड़ में धूल उड़ती थी उस वक्त। आज तो वसुंधराजी ने वहां मिनी सचिवालय बना दिया। जितना मैं उस जमाने में दौड़ा हूं, वह आज भी काम आ रहा है। मारवाड़ी में कहावत है, फिरेगा वो चरेगा। इसलिए पूरा राजस्थान घूमिए, लोगों से मिलिए।

चार हजार से विधानसभा चुनाव हारना मेरी क्वालिफिकेशन बन गया

गहलोत ने कहा, लोकसभा में हमारे 44 सांसद आए हैं, वह हमारे लिए चुनौती है लेकिन कई लोगों के लिए अवसर भी है। इंदिरा गांधी जब हारीं तब विधानसभा के लिए मुझे टिकट दिया था। मैं 4 हजार से चुनाव हार गया था, लेकिन कई बड़े-बड़े नेता 25 हजार, 35 हजार से चुनाव हारे थे। आगे के चुनाव में वह चार हजार से हारना ही मेरी क्वालिफिकेशन बन गई और मुझे 1980 में सांसद का टिकट मिल गया। इसलिए अवसर भी है।

अच्छे कामों को जनता तक नहीं पहुंचा पाना हमारी कमजोरी

गहलोत ने कहा, BJP वाले झूठ बोलने में माहिर हैं। हमारी कमजोरी यही है कि सरकार कितना ही अच्छा काम कर ले हम उसे जनता तक नहीं पहुंचा पाते। BJP सरकारें काम कम करती हैं लेकिन प्रचार ज्यादा करती हैं, छोटे से काम का भी इतना प्रचार होता है, जैसे सब कुछ इन्होंने ही किया है। उधर हम कितनी ही बड़ी योजनाएं ले आएं वे केवल मिसाल बनकर ही रह जाती हैं। उनका प्रचार नहीं हो पाता।

खबरें और भी हैं...