पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot Said We Are Begging The Center For Oxygen, Medicines And Cryogenic Tanker, I Have Not Left Anyone From Amit Shah To Whom I Have Not Spoken.

राजस्थान में सरकार की अटक रही 'सांसें':CM बोले- कोरोना की दूसरी लहर में हालात भयावह, हम केंद्र से ऑक्सीजन की भीख मांग रहे हैं, आज ही मैंने अमित शाह से बात की

जयपुर2 महीने पहले
इंटक के स्थापना दिवस पर वर्चुअल समारोह में राजस्थान सीएम अशोक गहलोत।

कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच राजस्थान में ऑक्सीजन संकट गहराने लगा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर में हालात भयावह होते जा रहे हैं। ऑक्सीजन की मांग इतनी हो गई है कि हम केंद्र से इसकी भीख मांग रहे हैं। मैंने आज ही अमित शाह से बात की है। मैंने अजीत डोभाल, पीएम के प्रमुख सचिव मिस्टर मिश्र से लेकर किसी को नहीं छोड़ा। सबसे ऑक्सीजन और दवाओं के लिए बात की है। कई लोगों से रोज बात कर रहा हूं। गहलोत कांग्रेस के मजदूर संगठन इंटक के स्थापना दिवस पर आयोजित वर्चुअल समारोह में बोल रहे थे।

गहलोत ने कहा- हम ऑक्सीजन और दवाओं के साथ केंद्र से क्रायोजेनिक टैंकर की भीख मांग रहे हैं। आज अमित शाह ने कहा कि राजस्थान को 5 टैंकर अलॉट कर रहा हूं। अब आप हालात का अंदाजा लगा सकते हैं। देश में 5 ऑक्सीजन टैंकर के लिए केंद्रीय गृह मंत्री से बात करनी पड़ रही है और उस स्तर पर टैंकर अलॉट हो रहे हैं। हम राजस्थान में कोरोना के आंकड़े छिपाते नहीं हैं। कई राज्य छिपाते होंगे। कर्नाटक में सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन बंद होने से 24 लोगों की मौत हो गई। हमने केंद्र में दवाओं और ऑक्सीजन की कमी पर अपने 3 मंत्रियों को दिल्ली भेजा था। हम लगातार हर संभव कोशिश कर रहे हैं। सरकार किसी स्तर पर कोई कमी नहीं रख रही है।

कोरोना से बचना है तो संभल जाइए

गहलोत ने कहा- हम तो चिंता कर रहे हैं कि राजस्थान को कैसे बचाएं। हम सबको मिलकर काम करना है। हमने 15 दिन का लॉकडाउन लगाया है। इसे नाम अब दूसरा दिया है, लेकिन इसे लॉकडाउन ही समझिए। आज ही हमने कड़वा विज्ञापन दिया है ताकि लोग समझ जाएं। बचना है तो संभल जाओ। ऐसे बिहेव करो जैसे कोरोना लॉकडाउन हो। मैंने कल पुलिस से फ्लैग मार्च करवाया ताकि लोगों को लगे कि हालात क्या हैं। लोगों को अब सचेत होना होगा और लॉकडाउन की तरह बर्ताव करके सहयोग करना होगा, तभी हालात नियंत्रण में आएंगे। अकेली सरकार कुछ नहीं कर सकती।

खबरें और भी हैं...