पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot Said We Will Not Impose Lockdown, It Is Very Dangerous, We Will Do Strict Action To Control Corona Without Locking.

राजस्थान में लॉकडाउन नहीं लगेगा:सीएम गहलोत बोले- इससे सबका रोजगार बंद हो जाता है, बिना लॉकडाउन लगाए सख्ती करेंगे

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान मेंं लॉकडाउन से इनकार किया है, लेकिन काेरोना कंट्रोल के लिए सख्ती बढ़ाने की घोषणा की है। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान मेंं लॉकडाउन से इनकार किया है, लेकिन काेरोना कंट्रोल के लिए सख्ती बढ़ाने की घोषणा की है।
  • राजस्थान में 3 महीने बाद शनिवार को 853 नए केस सामने आए और 3 मरीजों की मौत हुई

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर सख्ती की चेतावनी दी है, लेकिन प्रदेश में लॉकडाउन लगाने से साफ इनकार कर दिया है। गहलोत ने कहा कि कोरोना को लेकर जनता लापरवाह हो गई है, इसलिए कुछ सख्त कदम उठाए हैं। अगर और सख्ती करनी पड़ती है तो हम करेंगे। लोग नहीं चाहते कि लॉकडाउन लगे। लॉकडाउन लगाना बहुत ही खतरनाक है। सबका रोजगार बंद हो जाता है। बिना लॉकडाउन लगाए हमें सख्ती करनी पड़ेगी। गहलोत शनिवार को मेडिकल सुविधाओं के वर्चुअल लोकार्पण समारोह में बोल रहे थे।

गहलोत ने कहा कि हमें कोरोना की दूसरी लहर को गंभीरता से लेना होगा। पिछले साल 18 मार्च को राजस्थान में कोरोना के 14 केस थे। इस बार 18 मार्च को 370 केस आए। आप सोच सकते हैं कहां पिछले साल 14 केस थे और पूरे राजस्थान में फैल गया। ​इस बार 370 पर पहुंच गए। हमारी तैयारी बहुत शानदार है। कैसे भी हालत बने मुकाबले को तैयार हैं। हमें ध्यान रखना होगा कि कोरोना फैले ही क्यों? हम चाहते हैं कोरोना राजस्थान में फैले ही नहीं। कई राज्यों में हालत बहुत खराब है, इसलिए हमें सजग और सतर्क रहना होगा।

3 महीने बाद 24 घंटे में मिले 853 पॉजिटिव, रिकवरी रेट 1.32% गिरी
राजस्थान में कोरोना बेकाबू हो रहा है। प्रदेश में बीते 24 घंटे के अंदर 853 नए केस सामने आए और 3 मरीजों की मौत हुई। पिछली बार 25 दिसंबर को यानी 3 महीने पहले 800 से ज्यादा मरीज मिले थे। प्रदेश में 10 दिन में कोरोना की रफ्तार ढाई गुना तक बढ़ गई है। 10 दिन पहले यानी 16 मार्च तक राज्य में 200 से 250 के बीच केस आते थे, जो बढ़कर 850 की संख्या पार कर गए। आखिरी 10 दिन के अंदर पूरे राज्य में 5,282 नए मरीज सामने आए हैं, जबकि 20 लोगों की जान चली गई है।

प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या भी तेजी से बढ़कर 5,733 पर पहुंच गई। नए कोरोना संक्रमितों और एक्टिव केसों का संख्या के बढ़ने से राज्य में रिकवरी रेट भी फरवरी की तुलना में मार्च में नीचे आ गई। फरवरी में रिकवरी रेट 98.72% थी, जो गिरकर 97.40% पर आ गई।

कोरोना केस बढ़े तो और पाबंदियां लगना तय
गहलोत ने कोरोना के मामले बढ़ने पर और सख्ती के संकेत दिए हैं। यह सातवां मौका है जब पिछले 10 दिन के अंतराल में सीएम गहलोत ने सख्ती की चेतावनी दी है। पिछले दिनों ही गृह विभाग ने गाइडलाइन जारी की थी, जिसमें आठ शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया था। इसके अलावा शादी समाराहों में 200 लोगों और अंतिम संस्कार में 20 से ज्यादा लोगों की लिमिट लगा दी है। कोरोना के मामले बढ़ने पर नाइट कर्फ्यू का दायरा और बढ़ सकता है।

1 अप्रैल से यूनिर्वसल हेल्थ कवरेज के लिए रजिस्ट्रेशन, 1 मई से योजना लागू
सीएम गहलोत ने कहा कि 1 अप्रैल से यूनिर्वसल हेल्थ कवरेज के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। राजस्थान ने पूरे प्रदेशवासियों का 5 लाख तक के मुफ्त इलाज का बीमा होगा। 1 मई से योजना लागू होगी। केंद्र सरकार इस योजना पर 350 करोड़ देगी। राजस्थान सरकार इस पर 3000 करोड़ खर्च करेगी। इस योजना का लाभ सबको मिलेगा। अमीर लोग भी 850 रुपए जमा करवाकर हेल्थ बीमा का लाभ ले सकते हैं।